भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया: शार्दुल ठाकुर ने बताया- कंगारू गेंदबाजों के समक्ष क्या था उनका प्लान

 


ब्रिस्बेन। शार्दुल ठाकुर और वाशिंगटन सुंदर ने गाबा इंटरनेशनल स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया संग जारी चौथे और आखिरी टेस्ट मैच के तीसरे दिन सातवें विकेट हेतु 123 रनों की साझेदारी करके ऑस्ट्रेलिया को बड़ी बढ़त लेने से रोक दिया। 

ठाकुर (67) एवं  सुंदर (62) के बीच सातवें विकेट हेतु हुई शतकीय और बहुमूल्य साझेदारी के दम पर भारत ने यहां अपनी पहली पारी में 336 रन का स्कोर बनाया। ठाकुर ने 115 गेंदों पर नौ चौके और दो छक्के लगाए. वहीं सुंदर ने 144 गेंदों पर सात चौके और एक छक्का लगाया.

ठाकुर ने मैच के पश्चात बोला, "वे मेरे साथ बातचीत करने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन मैं उनको जवाब नहीं दे रहा था। एक या दो बार मैंने उन्हें एक शब्द में जवाब दिया। यहां तक कि उन्होंने मेरे उपर छींटाकाशी करने की भी कोशिश की, लेकिन मैंने उसे नजर अंदाज कर दिया और अपना खेल जारी रखा।"

ठाकुर ने आगे बोला, "जब हम क्रीज पर नए थे तो हम डिफेंड करने की कोशिश कर रहे थे। जैसे जैसे हमारी साझेदारी बड़ी होती हो गई तो हमने शॉट खेलना शुरू कर दिया। हमें पता था कि गाबा में उछाल है और अगर गेंदबाज अपनी लाइन और लेंथ से भटकता है तो हम खराब गेंद पर शॉट खेल सकते हैं।"

ऑस्ट्रेलिया ने इसके जवाब में तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी दूसरी पारी में बिना किसी नुकसान के 21 रन बना लिए हैं एवं उसे अब तक 54 रनों की बढ़त मिल चुकी है। भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसकी पहली पारी में 369 रनों पर समेट दिया था तथा इस लिहाज से ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में केवल 33 रनों की ही बढ़त मिल सकी। 

यह खबर भी पढ़े: आइसक्रीम खाने के शौकीन हो जाएं सावधान, 3 सैंपल में मिले कोरोना के पॉजिटिव केस

From around the web