अजहर अली ने युवा खिलाड़ियों से की अपील, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपना स्वाभाविक खेल खेलें

 


कराची। पाकिस्तान के सबसे वरिष्ठ बल्लेबाज़ अजहर अली ने टीम के युवा खिलाड़ियों से अपील की है कि वे असुरक्षा की भावना को दूर कर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी टेस्ट श्रृंखला में अपना स्वाभाविक खेल खेलें। आखिरी बार 2007 में दक्षिण अफ्रीका ने पाकिस्तान का दौरा किया था और दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला 1-0 से जीती थी। 

पिछले हफ्ते, पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 26 जनवरी से शुरू हो रहे टेस्ट श्रृंखला के लिए 20 सदस्यीय टीम की घोषणा की है,जिसमे नौ खिलाड़ी ऐसे हैं जो अपने टेस्ट करियर की शुरूआत करेंगे। 

एक खेल वेबसाइट से बातचीत में अजहर ने कहा, "अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट हमेशा एक चुनौती होती है। भले ही आप एक युवा खिलाड़ी के रूप में खेलते हों या अनुभवी खिलाड़ी के रूप में, दबाव हमेशा बना रहता है। लेकिन स्पष्ट रूप से एक नए खिलाड़ी के लिए इस दबाव को संभालना एक चुनौती होती है और फिर अगर वे इसमें असफल होते हैं, तो फिर उन्हें उठने में काफी समय लग जाता है।" 

 इससे पहले, पाकिस्तान के बल्लेबाजी कोच यूनिस खान ने कहा था कि अन्य टीमों के पास बहुत ही कम ऐसे खिलाड़ी होंगे,जो कम से कम 100 प्रथम श्रेणी मैच खेलने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आते हैं, दूसरी ओर पाकिस्तान अन्य प्रारूपों में अपने प्रदर्शन को देखते हुए खिलाड़ियों को चुनता है। 

 अजहर ने पूर्व कप्तान के साथ सहमति जताई और युवाओं को सलाह दी कि वे अपने कौशल पर भरोसा करें और जिसमें वो अच्छे हैं, वहीं करें। उन्होंने कहा,"स्पष्ट रूप से हम समझते हैं कि अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट के बीच एक बड़ा अंतर है जो उन्हें थोड़ा असुरक्षित बनाता है। लेकिन एक वरिष्ठ खिलाड़ी के रूप में, मेरी सलाह है कि उन्हें अपने कौशल पर भरोसा करना चाहिए और उसी के साथ रहना चाहिए, जिसमें वे अच्छा कर रहे हैं।" 

From around the web