गुलाबजल से निखारे अपना सौंदर्य सिर दर्द से छुटकारा दिलाएंगे ये घरेलू नुस्खे ममता बनर्जी ने बुद्धदेव भट्टाचार्य से मुलाकात की बेंगलूरू: दो मंजिली इमारत ध्वस्त होने से सात की मौत सम्पत्ति विवाद में पिता की गोली मारकर हत्या राजस्थान: विभिन्न अपराधों में लिप्त छह सौ चौदह लोग गिरफ्तार कश्मीर में पूर्व सरपंच की हत्या, मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर Asia Cup: भारतीय महिला हॉकी टीम घोषित, रानी बनी कप्तान जीटीबी स्कूल में यौन शोषण के प्रति छात्राओं को किया जागरूक शिक्षा नहीं, भीख मांगने का दिया जाता है प्रशिक्षण दीवाली बोनस को लेकर चर्चा में रहने वाले ढोलकिया एक फिर चर्चा में, वजह जानकर रह जायेंगे हैरान- B' Day Special: हेमा मालिनी ने मनाया 68वां जन्मदिन, जानिए इनसे जुडी... वीडियो : आरुषि-हेमराज मर्डर केस में तलवार दंपति डासना जेल से बाहर आए केंद्रीय गृह मंत्री ने जोधपुर में आईबी के पश्‍चिमी जोन क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र का किया उद्घाटन अनुपम खेर ने संभाला FTII के चेयरमैन पद का कार्यभार जेल जाने से पहले हनीप्रीत मिली अपने परिवार से, माँ- बाप से लिपटकर जताया अपना दुःख ऑस्ट्रेलिया के इस खिलाड़ी ने 35 ओवर के घरेलू मैच में जड़ा तिहरा शतक, 40 छक्के ठोके 2 हजार 45 एएनएम पदों पर दीपावली से पूर्व जारी होंगे पदस्थापन आदेश रेप के आरोपी जैन मुनि को कोर्ट ने भेजा जेल, मुनि बोले- लड़की के साथ सब सहमति से हुआ अगर आपने धनतेरस पर ये चीज खरीद रहे है तो हो सकता है बड़ा नुकसान
मकर संक्रांति पर सूर्य को करें जल अर्पित
sanjeevnitoday.com | Thursday, January 12, 2017 | 02:38:35 PM
1 of 1

आगरा। पौष मास आज समाप्त हो रहा है। पौष मास में कोई भी शुभ कार्य नहीं होते हैं। अब मकर संक्रांति के पर्व से सभी शुभ कार्य शुरू हो जाएंगे। इस बार संक्रांति का पर्व खास है। क्यों कि कई सालों पर ये नक्षत्र पड़ रहा है। वहीं इस बार शनिवार को पड़ने वाली संक्रांति के चलते भी ये पर्व कई मायनों 
में महत्वपूर्ण हो जाता है। ज्योतिषविधियों की मान्यता है कि इस दिन दान पुण्य करने से कई जन्मों के कष्ट दूर हो जाते हैं। जानिए इस बार क्या रहेगा संक्रांति पर्व में समय जो आपके देगा फलदायी परिणाम।

14 जनवरी को मनेगी संक्रांति


मकर संक्रांति का पर्व 14 जनवरी दिन शनिवार को होगा। ज्योतिषाचार्य डॉ.अ​रविंद मिश्र बताते हैं कि मकर राशि में सूर्य के प्रवेश को मकर संक्रांति का पर्व कहा जाता है। इसके साथ सूर्य उत्तरायण हो जाते हैं। इस दिन सूर्य अपने पुत्र शनि की राशि मकर में प्रात: 7:39 बजे आ जाएंगे। जो 12 फरवरी 20:38 शाम तक रहेंगे। बाद में कुंभ राशि में रहेंगे। इसलिए दो महीने सूर्य अपने पुत्र शनि की राशि मकर और कुंभ में रहेंगे। मकर से कर्क राशि तक सूर्य देव उत्तरायण रहते हैं और सिंह राशि से धनु राशि तक दक्षिणायन रहते हैं।


करें सूर्य की उपासना


इस दिन सूर्य की उपासना करने से कई कष्ट दूर हो जाएंगे। सूर्य को जल अर्पित करें। इससे शारीरिक उर्जा में बढ़ोत्तरी होगी। वहीं तिल की मिठाइयां दान करेन ने रोगों का नाश होगा। ज्योतिष में मकर संक्रांति पर्व का विशेष महत्व माना गया है। जल में गंगाजल व तिल ​डालकर स्नान करें। गंगा स्नान का पुण्य लाभ मिलेगा। कई सालों के बाद मकर संक्रांति शनिवार की पड़ रही है। यह अदभुत संयोग है। 14 जनवरी को मकर संक्राति से सभी शुभ कार्य शुरू हो जाएंगे।

यह भी पढ़े : इस भैंसे की कीमत जानकार होंगे हैरान, करोड़ों की लग्जरी गाड़ियों से भी महंगा है ये भैंसा, देखे : photos

यह भी पढ़े : Boyfriend ने शराब पिलाकर Girlfriend के किए टुकड़े, देखे : photos

यह भी पढ़े : छात्रा को कहा- आओ चले घूमने, फिर दोस्तों के साथ चलती कार में किया गैंगरेप

यह भी पढ़े : यहां मिलता है रस्ते का माल सस्ते में... देखे : photos



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.