loading...
महाराष्ट्र: हेलीकॉप्टर दुर्घटना में बाल बाल बचे CM देवेंद्र फडणवीस केन्द्रीय गृह मंत्रालय को भेजी सहारनपुर हिंसा की रिपोर्ट PM मोदी आज करेंगे ब्रहमपुत्र नदी पर बने देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन अगर EVM से छेड़छाड़ की इजाजत दी, तो मशीन की वास्तविकता खत्म हो जाएगी: EC बिहार: एकाएक बस में आग लगने से 20 यात्रियों की मौत नवीन मेडिकल कॉलेजों में एमसीआई मापदंड़ों का पालन हो : कालीचरण सराफ राजस्थान विश्वविद्यालय के पंचवर्षीय लॉ कॉलेज में भ्रष्टाचार का बड़ा खुलासा अजमेर को मिली नई सौगात, स्मार्ट सिटी के तहत एलिवेटेड रोड का होगा निर्माण इस कंपनी ने दिया जीएसटी धमाका, लग्जरी कारें हुई 7 लाख रुपए तक सस्‍ती सहारनपुर लड़ाई को लेकर बसपा ने लगाए बीजेपी पर आरोप, कहा - भीम आर्मी बीजेपी का प्रोडक्ट चैंपियंस ट्रॉफी, भारतीय टीम इन दो खिलाड़ियों के बिना पहुंची इंग्लैंड बिहार: चलती बस में लगी आग,20 यात्री जिंदा जले,सरकार ने दिए जांच के आदेश कल होगा ढोला-सदिया पुल का उद्घाटन, पूर्वोत्‍तर के लिए खुलेंगे नए रास्ते वनस्थली विद्यापीठ टोंक से आई पत्रकारिता की छात्राओं ने विधानसभा अध्यक्ष से की मुलाकात इन तस्वीरों के कारण लोग बनते है हंसी के पात्र, ये है कुछ फनी तस्वीरें जयपुर पुलिस आयुक्तालय को फिक्की से मिला बेस्ट प्रेक्टिसेज इन स्मार्ट पुलिसिंग का अवॉर्ड आपदा जोखिम न्‍यूनीकरण वैश्विक मंच में भारतीय प्रतिनिधि मंडल लेगा हिस्सा : किरण रिजिजू प्रेमी ने प्रेमिका को बात न मानने पर उतरा मौत के घाट ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट ’ग्राम कोटा’ में स्मार्ट फार्म में किसान दिखा रहे है रूचि देश का सबसे लंबा पुल हुआ तैयार, मोदी कल करेंगे उद्घाटन
मकर संक्रांति पर सूर्य को करें जल अर्पित
sanjeevnitoday.com | Thursday, January 12, 2017 | 02:38:35 PM
1 of 1

आगरा। पौष मास आज समाप्त हो रहा है। पौष मास में कोई भी शुभ कार्य नहीं होते हैं। अब मकर संक्रांति के पर्व से सभी शुभ कार्य शुरू हो जाएंगे। इस बार संक्रांति का पर्व खास है। क्यों कि कई सालों पर ये नक्षत्र पड़ रहा है। वहीं इस बार शनिवार को पड़ने वाली संक्रांति के चलते भी ये पर्व कई मायनों 
में महत्वपूर्ण हो जाता है। ज्योतिषविधियों की मान्यता है कि इस दिन दान पुण्य करने से कई जन्मों के कष्ट दूर हो जाते हैं। जानिए इस बार क्या रहेगा संक्रांति पर्व में समय जो आपके देगा फलदायी परिणाम।

14 जनवरी को मनेगी संक्रांति


मकर संक्रांति का पर्व 14 जनवरी दिन शनिवार को होगा। ज्योतिषाचार्य डॉ.अ​रविंद मिश्र बताते हैं कि मकर राशि में सूर्य के प्रवेश को मकर संक्रांति का पर्व कहा जाता है। इसके साथ सूर्य उत्तरायण हो जाते हैं। इस दिन सूर्य अपने पुत्र शनि की राशि मकर में प्रात: 7:39 बजे आ जाएंगे। जो 12 फरवरी 20:38 शाम तक रहेंगे। बाद में कुंभ राशि में रहेंगे। इसलिए दो महीने सूर्य अपने पुत्र शनि की राशि मकर और कुंभ में रहेंगे। मकर से कर्क राशि तक सूर्य देव उत्तरायण रहते हैं और सिंह राशि से धनु राशि तक दक्षिणायन रहते हैं।


करें सूर्य की उपासना


इस दिन सूर्य की उपासना करने से कई कष्ट दूर हो जाएंगे। सूर्य को जल अर्पित करें। इससे शारीरिक उर्जा में बढ़ोत्तरी होगी। वहीं तिल की मिठाइयां दान करेन ने रोगों का नाश होगा। ज्योतिष में मकर संक्रांति पर्व का विशेष महत्व माना गया है। जल में गंगाजल व तिल ​डालकर स्नान करें। गंगा स्नान का पुण्य लाभ मिलेगा। कई सालों के बाद मकर संक्रांति शनिवार की पड़ रही है। यह अदभुत संयोग है। 14 जनवरी को मकर संक्राति से सभी शुभ कार्य शुरू हो जाएंगे।

यह भी पढ़े : इस भैंसे की कीमत जानकार होंगे हैरान, करोड़ों की लग्जरी गाड़ियों से भी महंगा है ये भैंसा, देखे : photos

यह भी पढ़े : Boyfriend ने शराब पिलाकर Girlfriend के किए टुकड़े, देखे : photos

यह भी पढ़े : छात्रा को कहा- आओ चले घूमने, फिर दोस्तों के साथ चलती कार में किया गैंगरेप

यह भी पढ़े : यहां मिलता है रस्ते का माल सस्ते में... देखे : photos



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.