फीस मुद्दे को लेकर आज धरना देगा संयुक्त अभिभावक संघ, 20 नवंबर को ही दे दी थी चेतावनी

 


जयपुर। स्कूल फीस मुद्दे को लेकर गत दिनों लगातार सरकार से संपर्क करने का प्रयास कर रहे अभिभावकों के मुख्य संगठन संयुक्त अभिभावक संघ ने 20 नवम्बर को ज्ञापन देने के साथ ही धरना देने की चेतावनी भी दी थी, किन्तु सरकार और प्रशासन ने आठ माह की तरह इस बार भी अभिभावकों की 15 सूत्रीय मांगों को अनसुना कर दिया। जिसके बाद शनिवार को संयुक्त अभिभावक संघ ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर सोमवार को सुबह 11 बजे से जयपुर के शहीद स्मारक, गवर्मेंट हॉस्टल पर धरना शुरू करने की घोषणा की थी। जिसकी जानकारी पुलिस कमिश्नर जयपुर, जिलाधीश जयपुर सहित प्रदेश के महामहिम राज्यपाल, मुख्यमंत्री, प्रिंसिपल सेकेट्री शिक्षा विभाग सहित जिला शिक्षा अधिकारियों को मेल द्वारा भेजी गई। 

पिछले आठ महीनों से राहत की भीख मांग रहे है
प्रवक्ता अभिषेक जैन और मंत्री युवराज हसीजा ने जानकारी दी कि पिछले आठ महीनों से राहत की भीख मांग रहे है, पहले स्कूलों के चक्कर कांटे, फिर मंत्रियों और अधिकारियों के चक्कर लगाए किन्तु हर जगह से अभिभावकों को हताशा और निराशा हाथ लगी, अभिभावकों को अपना संघर्ष करना आता है बिना काम-धंधे जिल्लत की ज़िंदगी जीने से अच्छा है हम अभिभावक अपने हक के लिए संघर्ष करें। आज अभिभावकों की स्थिति और परिस्थिति किसी से भी छुपी हुई नही है, उसके बावजूद बिना पढ़ाई और कमाई के स्कूल संचालक सरकारी संरक्षण प्राप्त कर अभिभावकों को प्रताड़ित कर रहे है, 

पहले स्कूल संचालक केवल अभिभावकों को फोन कॉल कर प्रताड़ित कर रहे थे किंतु सरकार से वार्ता करने के बाद से निजी स्कूल संचालकों ने बच्चों को अपने निशाने पर लेकर बच्चो को उनके माता-पिता के लिए भड़का रहे है। केवल यही नही स्कूल फीस के साथ-साथ अब कुछ निजी स्कूल संचालक अपनी हठधर्मिता का प्रदर्शन करते हुए लेट फीस चार्ज भी वसूलने की धमकियां दे रहे है।

धरना पूरी तरह से शांतिपूर्ण तरीके से आयोजित होगा
महिला प्रभारी अमृता सक्सेना और दौलत शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार को सुबह 11 बजे से शहीद स्मारक पर धरना शुरू किया जाएगा, यह धरना पूरी तरह से शांतिपूर्ण तरीके से आयोजित होगा साथ ही सोश्यल डिस्टेंसिग की भी पूरी पालना करते हुए मास्क और सेनिटाइजर आदि की व्यवस्था रखी जायेगी साथ ही सरकार की गाइडलाइन के अनुसार 6-6 फिट नही बल्कि 10-10 फ़ीट की दूरी बनाकर धरने पर बैठा जाएगा। इस धरने में संयुक्त अभिभावक संघ के पदाधिकारियों सहित सदस्य और अभिभावक शामिल होंगे।

स्कूल खुलने को लेकर संयुक्त अभिभावक संघ ने लॉन्च किया सर्वे, अभिभावकों से सर्वे में मांगी प्रतिक्रियाएं
संयुक्त अभिभावक संघ मंत्री मनोज जसवानी ने बताया कि निजी स्कूल संचालक इस कोरोना महामारी में भी लगातार केंद्र और राज्य सरकार पर बच्चो की ज़िंदगी दांव पर लगाकर लगातार दबाव करने का प्रयास किया जा रहा है। जिसको लेकर केंद्र और राज्यों की विभिन्न सरकारें निजी स्कूलों के दबाव में आकर स्कूल खोलने की योजना बना रही है। जिसको ध्यान में रखकर संयुक्त अभिभावक संघ ने सक्रिय पेरेंट एसोसियेशन के साथ मिलकर अभिभावकों की प्रतिक्रिया जानने के लिए एक सर्वे लॉन्च किया है। इस सर्वे में प्रश्न के साथ ऑप्सन दिए गए है साथ ही सभी से स्कूल खोलने को लेकर सुझाव भी मांगे गए है। 

यह खबर भी पढ़े: किसानों ने ठुकराया बातचीत का प्रस्ताव, सरकार को दी ये बड़ी चेतावनी

 

From around the web