परिवहन उपनिरीक्षक की दरियादिली, रोड पर घायल पड़े युवक को पहुंचाया अस्पताल

 


अलवर। परिवहन उपनिरीक्षक विजेंद्र सिंह ने दरियादिली दिखाते हुए हादसे में घायल रोड पर तड़पते हुए युवक को अस्पताल पहुंचाया। दरअसल तिजारा ओवरब्रिज पर काफी समय से एक जानलेवा गड्ढा बना हुआ है। इसकी जानकारी संबंधित विभाग को होने के बावजूद भी आजतक किसी की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिसका खामियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा है। लक्ष्मणगढ़ निवासी कासम ककराली गांव से अपने किसी रिश्तेदार से मिलकर वापस अपने घर जा रहा था। शहर के तिजारा ओवरब्रिज से निकलने पर उसे ओवरब्रिज के बीचो-बीच बना गड्ढा दिखाई नहीं दिया। 

जिस कारण उसकी बाइक अनियंत्रित हो गई और वह बाइक के साथ दूर जाकर गिरा। हादसे में घायल कासम का काफी खून सड़क पर ही बहने लगा। जिसे देखते हुए भारी संख्या में वाहन चालक भी जमा हो गए। हादसे के बाद कुछ देर के लिए ओवर ब्रिज पर यातायात बाधित हो गया जिस कारण वाहनों की लंबी कतार लग गई। तभी वहां से निकल रहे परिवहन उपनिरीक्षक विजेंद्र की नजर घायल युवक पर पड़ी। परिवहन निरीक्षक ने पुलिस और एंबुलेंस का इंतजार किए बिना ही युवक को एक वाहन में सरकारी अस्पताल पहुंचाया। इसके बाद युवक के जेब से मिले आईडी कार्ड से परिजनों को सूचना की। हालांकि घटना की सूचना के बाद शिवाजी पार्क थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची लेकिन जिस से पहले घायल युवक अस्पताल पहुंच गया था। 

परिवहन उपनिरीक्षक विजेंद्र सिंह ने बताया कि गम्भीर घायल युवक को तुरन्त उपचार की जरूरत थी समय पर युवक को उपचार मिल जाए जिस कारण एंबुलेंस का इंतजार करना उचित नही था। इसलिए लोगो की मदद से एक वाहन में सवार कर युवक को अस्पताल पहुचाया गया। 

 हेलमेट नहीं पहनने से युवक के सर में लगी चोट 
तिजारा ओवरब्रिज पर गड्ढे में बाइक के अनियंत्रित होने से गिरे युवक ने हेलमेट नहीं पहना था। जिस कारण युवक के सर में भी हादसे में चोट लग गई। जबकि इन दिनों अलवर पुलिस सड़क सुरक्षा सप्ताह मना रही है। पुलिस वाहन चालकों को को रोजाना सीट बेल्ट लगाने , हेलमेट पहनने सहित यातायात के नियमों की पालना के लिए अपील कर रही है लेकिन इसके बावजूद भी आमजन है कि यातायात के नियमो की अनदेखी कर रहे है।

यह खबर भी पढ़े: वर्ष 2020 में CRPF ने जम्मू-कश्मीर में कई अभियान चलाकर करीब 215 आतंकियों को किया ढेर

From around the web