बीकानेर में पॉजिटिव रिपोर्ट ग्राफ में गिरावट, कोरोना कम हुआ लेकिन खत्म नहीं

 


बीकानेर।  बीकानेर में कोरोना से राहत के आसार दिख रहे हैं। संक्रमितों का ग्राफ नीचे आ रहा है। शहर में शादियों का सीजन और ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत व जिला परिषद के चुनाव के बावजूद अगर ग्राफ  नहीं बढ़ा और लोगों ने सतर्कता बराबर रखी, तो इस वैश्विक महामारी से जंग जीतने की दिशा में बड़ा कदम होगा। पीबीएम अस्पताल के अधीक्षक डॉ. परमेन्द्र सिरोही ने गुरुवार को 'हिन्दुस्थान समाचार' से एक विशेष बातचीत में कि कोरोना कम हुआ है लेकिन खत्म नहीं हुआ है। सतर्क रहकर अपना और घर-परिवार का ख्याल रखें। बावजूद इसके डॉ. सिरोही हालातों को देखते हुए कोरोना को खत्म करने के लिए पुख्ता बंदोबस्तों को और मजबूत करने में दिन-रात जुटे हुए हैं। 

उन्होंने कहा कि बीकानेर में वर्तमान में कोरोना मरीजों के लिए 450 बैड उपलब्ध है साथ ही 2200 ऑक्सीजन सिलेण्डर भी आ गए हैं। किसी भी तरह की परिस्थिति हो या गंभीर हालात में भी वे अधिकाधिक रोगियों को तुरंत इलाज, ऑक्सीजन, दवाइयां मिले इसके लिए युद्ध स्तर पर तैयारियां कर रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना संक्रमित मरीजों की रिपोर्ट में जहां कमी आयी है वहीं भर्ती कोरोना पॉजिटिव रोगी की संख्या भी घट गयी है। एक सवाल के जवाब में डॉ. सिरोही ने यह भी बताया कि स्टाफ की कोई कमी नहीं, बैड और ऑक्सीजन की दिक्कत नहीं है कुल मिलाकर सभी तरह की व्यवस्थाएं कोविड को लेकर ठीक है। इसलिए अब मर्दाना, जनाना, ट्रोमा सेंटर, कार्डियोलॉजी सहित अनेक विभागों में ध्यान देना शुरु कर दिया है। 

साफ-सफाई व्यवस्था को लेकर पूछे गए प्रश्न के उत्तर में डॉ. परमेंद्र सिरोही ने बताया कि उन्होंने एक विजन बनाया है। ठेकेदार, सुपरवाईजर, चौकीदार तीनों को बुलाकर कहा है कि अच्छी से अच्छी साफ-सफाई उन्हें चाहिए। इसी का नतीजा है कि पहले से सफाई व्यवस्था सुधरी है। आप वार्डवाईज दौरा करके देख सकते हैं। उन्होंने बार-बार यही कहा कि कोविड के अलावा भी कोई भी बीमार व्यक्ति या उसके परिवार के लोग यदि पीबीएम अस्पताल आएं तो अच्छे से अच्छा इलाज, खुश होकर रोगी जाए तो एक सुकून हमें मिलेगा, इसी दिशा में कार्य किया जा रहा है। 

यह खबर भी पढ़े: मथुरा : प्रेमी युगल सुसाइड करने गेस्ट हाउस पहुंचे, प्रेमिका की गोली मारकर हत्या, प्रेमी गिरफ्तार

From around the web