Online Fraud: राजधानी में साइबर ठग गिरोह का बोलबालाः नए-नए तरीकों से की जा रही ठगी

 


जयपुर।  राजधानी के तीन अलग-अलग थाना इलाके में भोले-भाले लोगों को सााइबर ठगों द्वारा अलग-अलग तरीकों से ठगी करना का मामला सामने आया है। इस संबंध में प्रताप नगर, सदर और विद्याधर नगर थाने में पीडितों की ओर से धोखाधडी का मामला दर्ज करवाया गया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पडताल शुरू कर दी है।

इंश्योरेंस कंपनी के नाम पर लोगों को सोशल मीडिया पर लिंक भेज कर करोड़ों रुपए की ठगी 
प्रताप नगर थाना इलाके में इंश्योरेंस कंपनी के नाम पर लोगों को सोशल मीडिया पर लिंक भेज कर करोड़ों रुपए की ठगी करने मामला सामने आया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पडताल में जुटी है।

प्रताप नगर थानाधिकारी श्रीमोहन लाल ने बताया कि राजेश शंकर ढ़ाणे हाल अधिकृत प्रतिनिधी ऐको जनरल इंश्योरेंस ने मामला दर्ज करवाया है कि इंश्योरेंस कंपनी के नाम पर लोगों को सोशल मीडिया पर लिंक भेज कर करोड़ों रुपए की ठगी की वारदात को अंजाम दिया जा रहा है। ठगों की ओर से सस्ते में इंश्योरेंस करने के नाम पर लोगों को लिंक भेजे गए और लिंक पर क्लिक कर पेमेंट करने को कहा गया.। इस प्रकार से सैकड़ों लोगों को ठगी का शिकार बनाया गया। वहीं पेमेंट करने के बाद भी जब इंश्योरेंस से संबंधित कोई भी दस्तावेज ठगी के शिकार हुए लोगों के पास नहीं पहुंचे,तो उन्होंने इंश्योरेंस करने वाली कंपनी के कार्यालय पहुंचकर जानकारी मांगी, तब उन्हें उनके साथ हुई ठगी का पता चला। जब कंपनी के प्रतिनिधियों ने जब इसकी जांच की तो पता चला कि इंदु बाला, सीताराम, बालकोर सिंह, अनीसुल हसन, सुनील, सत्येन्द्र, अरुण, संजय और बहुत से लोगों ने इस तरह से ठगी की है और कंपनी की सालों पुरानी छवि को भी खराब किया है। जिसके बाद इंश्योरेंस कंपनी के प्रतिनिधि की ओर से थाने में मामला दर्ज कराया गया।  प्रारम्भिक जांच पडताल में सामने आया कि ठगों द्वारा एक करोड़ रुपये से अधिक की ठगी की वारदात को अंजाम दिया है। फिलहाल पुलिस की ओर से मामला दर्ज कर जांच पडताल की जा रही है। 

एलआईसी एजेंट बताकर लुभावनी स्कीम का झांसा देकर ठगी
वहीं इधर सदर थाना इलाके में एलआईसी एजेंट बताकर लुभावनी स्कीम का झांसा देकर लाखों रुपये की ठगी करने का मामला सामने आया है। जिसके चलते एक पीडित ने दो महिलाओं के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज करवाया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पडताल में जुटी है।

 जांच अधिकारी एएसआई राजेन्द्र प्रसाद ने बताया कि सुमित सिंह निवासी मजदूर नगर अजमेर रोड ने थाने में  गुंजन और निर्मला नामक दो महिलाओं के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है कि दोनों महिलाओं ने खुद को एलआईसी एजेंट बताकर लुभावनी स्कीम का झांसा देकर एलआईसी के नाम पर चेक और डीडी ले लिए, लेकिन उसके बाद में उसके पास एलआईसी से संबंधित कोई भी दस्तावेज नहीं आया। जिस पर पीड़ित ने जब एलआईसी कार्यालय जाकर पड़ताल की तो उस नाम के कोई भी एजेंट होना नहीं पाया गया।
 
सीबीआई अधिकारी बताते हुए अश्लील वीडियो दिखाकर वायरल करने की धमकी दे ठगी
वहीं प्रताप नगर थाना इलाके में सीबीआई अधिकारी बताते हुए एक पीडित युवक  को अश्लील वीडियो दिखा कर उसे वायरल करने की धमकी देकर ठगी करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पडताल मे जुट गई है।

थानाधिकारी वीरेन्द्र कुरील ने बताया कि विद्याधर नगर थाना क्षेत्र मेें रहने वाले एक पीडित युवक ने आरोपित युवक भोरसिंह के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है कि उसने एक मोबाइल फोन पर एक एप डाउनलोड था। इस एप पर वीडियो कॉल आया और कॉल करने वाले ने खुद को सीबीआई अधिकारी  बताते हुए अश्लील वीडियो दिखाए और वीडियो देखते हुए उसका वीडियो रिकॉर्ड कर लिया। उसके बाद आरोपित भोरसिंह की ओर से रिकॉर्ड किए गए वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर चार हजार रुपये खाते में डलवाए गए और 2 लाख रुपये की मांग की गई। पीडित द्वारा मना किया तो आरोपित ने यह वीडियो को सोशल मीडिया पर और उसके परिवार के सदस्यों को भेजने की धमकी दी। बार-बार फोन कर परेशान करने लगा तो वह थाने पहुंचा और मामला दर्ज करवाया।  पुलिस ने उक्त नंबर पर फोन किया तो फोन बंद आया।  फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह खबर भी पढ़े: कृषि कानूनों को लेकर गठित समिति ने की किसान संगठनों के साथ बैठक

From around the web