राज्यपाल कलराज मिश्र से मिलकर जैन समाज ने बताई रीट व महावीर जयंती की पीड़ा

 


जयपुर। भारतवर्षीय दिगंबर जैन तीर्थ क्षेत्र कमेटी के एक प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात की और राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) की तिथि बदलने की मांग की। जैन समाज का कहना है कि 25 अप्रैल को महावीर जयंती है और इस दिन रीट के कारण समाज के शिक्षक और कर्मचारी महावीर जयंती महोत्सव में शामिल होने से वंचित रह जाएंगे। इसलिए परीक्षा तिथि में बदलाव कर जैन समाज को राहत दी जाए।

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) परीक्षा 25 अप्रैल को करवाने की की घोषणा कर चुके हैं। भारतवर्षीय दिगंबर जैन तीर्थ क्षेत्र कमेटी के तत्वावधान में रीट की तिथि बदलने की मांग को लेकर एक प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन भी सौंपा। जैन समाज का कहना है कि महावीर जयंती का ये पर्व गरिमापूर्ण पर्व है। परीक्षा केंद्र समाज से संबंधित विद्यालयों और महाविद्यालयों में बनाए जाते हैं। रीट के कारण समाज के शिक्षक और कर्मचारी भी महावीर जयंती महोत्सव में शामिल होने से वंचित रहेंगे।
 
प्रतिनिधिमंडल में कार्याध्यक्ष और महामंत्री भारतवर्षीय दिगंबर जैन तीर्थ क्षेत्र कमेटी मुंबई के राजेंद्र के गोधा, दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र महावीरजी के अध्यक्ष सुधांशु कासलीवाल, दिगंबर जैन महासमिति के राष्ट्रीय महामंत्री सुरेंद्र कुमार जैन, भारतवर्षीय दिगंबर जैन महासभा राजस्थान अंचल के अध्यक्ष कमल बाबू जैन ने राज्यपाल को जैन समाज की इस पीड़ा के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि जैन समाज के बीएड और बीएसटीसी डिग्रीधारी बेरोजगार युवा भी महावीर जयंती 25 अप्रैल को आयोजित होने वाली रीट को लेकर चिंतित है। इस संबंध में मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, सांसद, मुख्य सचिव, भाजपा और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष को ज्ञापन दिए जा रहे हैं।

यह खबर भी पढ़े: Republic Day 2021: इस बार गणतंत्र दिवस कई मायनों में होगा अलग, परेड में 38 विमान लेंगे हिस्सा, राफेल भी दिखयेगा अपना कमाल

From around the web