अवैध शराब कारोबारियों के खिलाफ सघन जांच अभियान चलाने के निर्देश

 


भरतपुर/जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने शुक्रवार को भरतपुर सर्किट हाउस में आयोजित बैठक में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि भरतपुर जिले में अवैध शराब कारोबारियों के खिलाफ सघन जांच अभियान चलायें और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करें जिसमें कोई कोताही नहीं बरतें। इधर,  गृह विभाग ने रुपवास के गांव चक सामरी में जहरीली शराब के उपयोग से हुई मौतों की दुखान्तिका की जांच के लिए संभागीय आयुक्त, भरतपुर को जांच अधिकारी नियुक्त करने का आदेश जारी किया है। बैठक में डॉ. गर्ग ने कहा कि ऐसी सूचनाएं मिल रही हैं कि सीमावर्ती क्षेत्रों के अवैध शराब कारोबारी जिले में अवैध शराब लाकर विक्रय कर रहे हैं ऎसे कारोबारियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्रवाई करें। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के अलावा भरतपुर शहर में भी अवैध शराब विक्रेताओं के खिलाफ जांच का सघन अभियान चलायें और यह भी सुनिश्चित करें कि अनुज्ञापत्रधारी शराब की दुकानें निर्धारित समय पर बन्द हों। निर्धारित समय के बाद भी यदि कोई व्यक्ति शराब बेचता पाया जाये तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई करें। 

डॉ. गर्ग ने बताया कि रूपवास क्षेत्र के तीन गांवों के लोगों द्वारा अवैध शराब के सेवन के पश्चात् बीमार हुये लोगों की हालत अब धीरे धीरे ठीक होने लगी है और चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश भी दिये हैं कि उनका समुचित ईलाज करें। राज्य सरकार द्वारा अवैध शराब के सेवन के पश्चात बीमार लोगों को 50-50 हजार रुपये की सहायता राशि शीघ्र मुहैया कराई जा रही है और सरकार के निर्देश पर इन गांवों में परिजनों को सांत्वना देने तथा उनकी हालत का जायजा लेने के लिये गृह रक्षा राज्य मंत्री भजनलाल जाटव को भेजा जा रहा है। 

भरतपुर के संभागीय आयुक्त जांच अधिकारी नियुक्त
इधर भरतपुर जिले के गांव चक सामरी, रूपवास में जहरीली शराब के उपयोग से हुई मौतों की दुखान्तिका से संबंधित घटनाक्रम की प्रशासनिक जांच संभागीय आयुक्त, भरतपुर से कराने का निर्णय लिया गया था। गृह विभाग ने इस संबंध में शुक्रवार को आदेश जारी कर संभागीय आयुक्त, भरतपुर को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। जांच अधिकारी प्रकरण के सम्पूर्ण पहलुओं की जांच कर 15 दिवस में राज्य सरकार को रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। उल्‍लेखनीय है कि रूपवास तहसील के चक सामरी गांव में बुधवार को यहां शराब पीने से 4 लोगों की मौत हुई थी। इसके बाद 3 और लोगों ने दम तोड़ दिया था। अब 3 लोगों की हालत भी गंभीर बनी हुई है। इन्हें आंखों से दिखना बंद हो गया है। इन्हें जयपुर रैफर कर दिया है। 

यह खबर भी पढ़े: कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर भी स्पीक अप फोर किसान अधिकार कैंपेन चलाया

From around the web