Live Updates/विरोध झेलने के बाद कांग्रेस सांसद ने लगाया बड़ा आरोप, कहा- किसान आंदोलन में लाठी और हथियारों से लैस लोग मौजूद

 


नई दिल्ली। तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का आज 60वां दिन है। किसानों के इस शांत आंदोलन की ‘ताकत’ भी लगातार बढ़ती जा रही है। ठंड की परवाह किए बिना हरियाणा, पंजाब, यूपी, राजस्थान समेत अन्य राज्यों से किसानों के जत्थे रसद के साथ लगातार धरनास्थल पर पहुंच रहे हैं। इस बीच लुधियाना के कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने किसान आंदोलन को लेकर बड़ा बयान दिया है। 

रवनीति सिंह बिट्टू ने कहा कि वहां कुछ लाठी और हथियारों से लैस लोग मौजूद है। दरअसल रवनीत सिंह बिट्टू किसानों के आंदोलन में शामिल होने के लिए जब दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर पहुंचे तो उन्हें किसानों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनकी गाड़ी पर लाठियों से हमला किया गया, साथ ही गो बैक के नारे भी लगाए गए। 

घटना के बाद रवनीति सिंह बिट्टू ने कहा कि हम किसान नेताओं की बैठक में हिस्सा लेने गए थे, लेकिन हम वहां जैसे ही पहु्ंचे हमें घेर लिया गया। वहां कुछ लाठी और हथियारों से लैस लोग मौजूद थे। हम अभी कोई एक्शन नहीं लेने जा रहे हैं, क्योंकि किसानों का आंदोलन चल रहा है। 

बिट्टू ने कहा कि मैं पहले से कह रहा हूं कि किसानों के आंदोलन में कुछ शरारती तत्व, खलिस्तानी झंडे वाले लोग हैं, लेकिन किसान नेता इतनी संख्या में मौजूद प्रदर्शनकारियों में इनकी पहचान के लिए क्या कर सकते हैं। शरारती तत्वों को किसान आंदोलन में झंडे लहराने के लिए 1 करोड़ 80 लाख रुपए दिए जाते हैं। मैं वैसे भी उनका निशाना हूं। 

बता दें  कि अब तक किसान संगठनों की सरकार के साथ 11 बैठकें हो चुकी हैं, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। 22 जनवरी की वार्ता भी बेनतीजा रही है। गौरतलब है कि आंदोलनकारी किसान 28 नवंबर से दिल्ली की बॉर्डर पर डेरा डाले हुए हैं। साथ ही किसानों ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली करने का ऐलान किया है। 

यह खबर भी पढ़े: यात्रियों के लिए बड़ी खुशखबरी, एक अप्रैल से शुरू हो सकता है कोरोना के कारण बंद शेष ट्रेनों का परिचालन

 

From around the web