भाजपा का आरोप, रक्षा सौदों में घोटाले का जिक्र आते ही कांग्रेस का नाम आता है सामने

 


नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब भी रक्षा सौदों में घोटाले की बात आती है तो कांग्रेस का नाम सामने आता है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी व पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से इसका जवाब देने की मांग की।

भाजपा प्रवक्ता राज्यवर्धन सिंह राठौर ने यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जब भी रक्षा सौदों में घोटाले की बात आती है तो कांग्रेस का नाम आता है। जीप घोटाला, टाट्रा ट्रक घोटाला, बोफोर्स घोटाला और अब अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला, ये सब कांग्रेस के शासन में हुए हैं। उन्होंने सवाल किया कि क्या कारण है कि रक्षा समझौतों में कांग्रेस ने हमेशा घोटाले किए हैं?

राठौर ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर खरीद मामले का जिक्र करते हुए कहा कि 08 फरवरी, 2010 को अगस्ता वेस्टलैंड के साथ उस समय की यूपीए सरकार द्वारा एक समझौता किया गया कि 12 हेलीकॉप्टर खरीदे जाएंगे। जिनकी लागत होगी तकरीबन 600 मिलियन यूरो। इनकी डिलीवरी जुलाई 2013 में होनी थी लेकिन फरवरी 2012 में इटली में इस पर एक तहकीकात शुरू हुई कि इसकी जो पैरेंट कंपनी है, वो अनैतिक तरीके से काम कर रही है। इसके बाद 2014 में ब्रिटिश मूल के क्रिश्चियन मिशेल जो कि अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले दलाल की भूमिका निभा रहा था क्रिश्चियन मिशेल के नोट्स से बहुत सारी जानकारी मिली।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि मिशेल ने नोट्स में लिखा कि सोनिया गांधी और उनके करीबियों को टारगेट करने से हमारी ये डील स्वीकृत होगी। उन करीबियों की लिस्ट में अहमद पटेल सहित कई वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के नाम लिखे हैं। उन्होंने कहा कि सोनिया व राहुल गांधी को अपनी पार्टी के बड़े नेताओं का इस घोटाले में नाम आने पर स्पष्टीकरण देना चाहिए किंतु दोनों नेता चुप्पी साधे हुए हैं।

यह खबर भी पढ़े: लंदन से वापस भारत लाई गई 13वीं शताब्दी की राम-लक्ष्मण और सीता की प्रचीन मूर्तियां तमिलनाडु हस्तांतरित

From around the web