योग गुरु स्वामी रामदेव का बड़ा बयान, कहा- कृषि कानूनों की आड़ में हो रहा मोदी का विरोध

 


चंडीगढ़। योग गुरु स्वामी रामदेव ने कृषि कानूनों का समर्थन करते हुए कहा है कि कुछ लोग अपने राजनीतिक हितों की पूर्ति के लिए किसानों को गुमराह कर रहे हैं। न तो एमएसपी खत्म हो रही है और मंडियां खत्म नहीं हो रही हैं। इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री और कृषि मंत्री से बात हो चुकी है। 

स्वामी  रामदेव मंगलवार को चंडीगढ़ सचिवालय में गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। योग गुरु ने किसी भी राजनीतिक दल का नाम लिए बगैर पलटवार करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी किसानों के लिए गलत नीति क्यों बनाएंगे और इसमें उनका क्या हित हो सकता है। कुछ लोग कृषि कानूनों की आड़ में मोदी का विरोध कर रहे हैं। 

रामदेव ने स्वीकार किया कि केंद्र से कानून बनाते समय एक बड़ी चूक हुई है। सरकार को चाहिए था कि इसे लागू करने से पहले किसान संगठनों के साथ बैठक जरूर करनी चाहिए थी। किसानों के साथ बैठकें करके कृषि कानूनों के लाभ बताने का जो काम अब हो रहा है, वह सरकार को पहले करना चाहिए था। रामदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की नीयत व नीति एकदम साफ है। इसमें उन्हें कोई संदेह नहीं।

रामदेव ने आंदोलनरत किसानों से अपील की कि वह जान-माल का नुकसान न करें और आंदोलन की राह छोड़कर बातचीत के माध्यम से इस समस्या का हल निकालें। उन्होंने कहा कि आंदोलन में खालिस्तानी नारे तथा देश विरोधी नारे नहीं लगने चाहिए। यह गलत है। 

यह खबर भी पढ़े: सरकार और किसानों की बातचीत रही बेनतीजा, किसानों ने समिति बनाने के प्रस्ताव को ठुकराया

From around the web