गृहमंत्री अनिल देशमुख के बयान के बाद अर्नब गोस्वामी की बढ़ीं मुसीबतें

 


मुंबई। गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी ने 26 फरवरी 2019 को बालाकोट में की गई सैन्य कार्रवाई का प्रसारण 23 फरवरी 2019 को ही किया था। इससे राष्ट्रीय सुरक्षा का प्रश्र उत्पन्न हो गया है। केंद्र सरकार को सैन्य कार्रवाई की खुफिया जानकारी लीक करने वाले व टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी पर कार्रवाई करनी चाहिए। राज्य सरकार भी इस मामले में कानूनी सलाह ले रही है, अगर केंद्र ने अर्नब पर कार्रवाई नहीं की तो राज्य सरकार कानूनन कार्रवाई करेगी। गृहमंत्री अनिल देशमुख के बयान के बाद अर्नब गोस्वामी की मुसीबतें बढ़ती नजर आ रही हैं।

अनिल देशमुख ने मंगलवार को पत्रकारों को बताया कि आज महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता सचिन सावंत उनसे मिले थे । सचिन सावंत ने उन्हें बताया कि अर्नब गोस्वामी व टीआरपी घोटाले के आरोपित पार्थो दासगुप्ता के बीच जो मोबाईल चैट सार्वजनिक हुआ है, वह बहुत ही संवेदनशील और देश की सुरक्षा के लिए घातक है। अर्नब गोस्वामी को सैन्य कार्रवाई की और कितनी जानकारी केंद्रीय सरकार के अधिकारियों ने पद व गोपनीयता को ताक पर रखकर साझा किया है, इसकी जांच अर्नब पर देशद्रोह का मामला दर्ज कर की जानी चाहिए। साथ ही अर्नब गोस्वामी ने दूरदर्शन की सैटेलाईट फ्रिक्वेंसी का पैसे न देते हुए उपयोग किया है। इससे सरकार को करोड़ों रुपये का राजस्व का नुकसान हुआ है। इस मामले की शिकायत केंद्र सरकार के पास की गई है, लेकिन कार्रवाई नहीं की गई है। अनिल देशमुख ने कहा कि इस मामले पर कार्रवाई के लिए राज्य सरकार कानूनी सलाह ले रही है।

यह खबर भी पढ़े: प्रदेश के 6 लाख लाभार्थियों को पीएम आवास योजना की राशि जारी करेंगे प्रधानमंत्री

From around the web