किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए दिल्ली कूच कर रहे कांग्रेसी नेता को पुलिस ने रोका, केंद्र से पूछा बड़ा सवाल

 


कठुआ। कृषि कानूनों के विरोध में जारी आंदोलन को समर्थन देने के लिए ट्रैक्टर मार्च से दिल्ली जा रहे कांग्रेसी नेता पंकज डोगरा सहित अन्य को नगरी में पुलिस द्वारा रोक लिया गया। नगरी तहसील मुख्यालय पर ट्रैक्टर मार्च के दौरान कार्यकर्ताओं ने केंद्र की सरकार विरोधी नारेबाजी कर अपनी भड़ास भी निकाली। उधर जिला मुख्यालय पर भी कांग्रेस की जिला प्रमुख मनोहर लाल शर्मा की अगुवाई में रोष मार्च निकाला गया।

कांग्रेसी नेता पंकज डोगरा ने कहा कि वे 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च में भाग लेने के लिए कठुआ से जा रहे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया। कांग्रेस भी पूरी तरह से किसानों के साथ है। केंद्र सरकार की कृषि विरोधी नीतियां बर्दाश्त नहीं की जाएंगी। अगर किसान कानून को चाहते ही नहीं हैं तो फिर सरकार ने कानून बनाया किसके लिए है। यह भी बताया जाना चाहिए।

प्रदर्शनकारियों में ब्लाक प्रधान रविंद्र सिंह, अरुण मेहता, कांग्रेसी नेता तरसेम सैनी, सतपाल भंडारी सहित अन्य भ्किसान भी मौजूद रहे। वहीं, जिला मुख्यालय पर रोष मार्च के दौरान मनोहर लाल शर्मा ने भी केंद्र की नीतियों की आलोचना की। उन्होंने कहा कि केेंद्र सरकार किसान विरोधी है जिसे सत्ता में रहने का भी कोई अधिकार नहीं है।

यह खबर भी पढ़े: रोज नए जुमले और ज़ुल्म बंद करके सीधे-सीधे कृषि-विरोधी क़ानून रद्द करे सरकार, राहुल गांधी ने केंद्र को दी ये बड़ी चेतावनी

 

From around the web