तमिलनाडु : चक्रवात 'निवार' की दस्तक से पूर्व चेन्नई में भारी बारिश से कई क्षेत्रों में जलभराव

 


चेन्नई। चक्रवात 'निवार' के आज शाम तक तमिलनाडु और पुदुचेरी के बीच तट को पार करने की संभावना है। इस चक्रवात के कारण चेन्नई में हो रही भारी वर्षा के कारण शहर के कुछ हिस्सों में जलभराव की स्थिति पैदा हो गई है। हालांकि, तमिलनाडु सरकार ने व्यापक एहतियाती कदम उठाए हैं। 

तमिलनाडु और पुदुचेरी में बुधवार को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है और कई ट्रेनें और उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। चेन्नई के सभी तीन बंदरगाहों को बंद कर दिया गया है। चेन्नई हवाई अड्डे से प्रस्थान करने और आगमन वाली कन्नूर, कोझीकोड, विजयवाड़ा, तिरुचि, थूथुकुडी, बेंगलुरु, मैंगलोर और हुबली के लिए उड़ानें रद्द कर दी गईं हैं।

पुदुचेरी के जिला कलेक्टर पुरवा गर्ग ने लोगों को आगाह करते हुए कहा है कि चक्रवात के दौरान बाहर नहीं निकले क्योंकि यह 'खतरनाक' हो सकता है। उन्होंने कहा कि लोगों को तब तक घर में रहना चाहिए जब तक आधिकारिक तौर पर यह घोषणा नहीं कर दी जाती है कि चक्रवात गुजर चुका है। तमिलनाडु सरकार शहर में 2015 की बाढ़ की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए सभी कदम उठा रही है जिसके चलते चक्रवात निवार के कारण भारी बारिश के पूर्वानुमान के मद्देनजर वह चार जलाशयों पर निगरानी रखे हुए है।  

उधर, पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वेलु नारायणसामी ने जनता को सहायता प्रदान करने के लिए आवश्यक कदम उठाए हैं। निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को निकाला गया है। उन्हें भोजन, पानी तथा मास्क उपलब्ध कराए जाएंगे। चक्रवात निवार के चलते मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है। इस चक्रवात आज देर शाम या रात को कराईकल और महाबलीपुरम के बीच पार करने की संभावना है।  

चक्रवात के कारण 25 और 26 नवम्बर को दक्षिण आंजताई तरिक कर्नाटक में भारी वर्षा होने की उम्मीद जताई गई है। जिन जिलों में वर्षा की संभावना है उनमें चामराजनगर, चिक्कबल्लापुर, कोलार, मैसूरु और बेंगलुरु का एक हिस्सा शामिल है।

यह खबर भी पढ़े: आर्थिक रूप से सक्षम परिवार मदरसों की बजाय कॉनवेन्ट स्कूलों को दे रहे तरजीह

From around the web