भाजपा रैली पर फिर फेंके पत्थर, आक्रोशित भाजपा कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़, क्षेत्र में तनाव का माहौल

 


कोलकाता। दक्षिण कोलकाता में भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी और प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष की रैली में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ईंट-पत्थर फेंकने के बाद क्षेत्र में तनाव फैल गया है।

सोमवार को भाजपा ने टॉलीगंज मेट्रो स्टेशन से लेकर रासबिहारी मोड़ तक रैली निकाली। भाजपा का आरोप है कि इस रैली पर तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने पत्थर फेंके, जिसमें कई कार्यकर्ता घायल हो गए हैं। पत्थरबाजी से नाराज होकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी पलटवार किया और इलाके में तोड़फोड़ कर दी। भाजपा कार्यकर्ताओं ने बाइक और सड़कों पर लगे ममता बनर्जी के होर्डिंग भी तोड़ दिए। इसके बाद क्षेत्र में तनाव फैल गया। पथराव की सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंच गई।

रैली के समापन पर शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि किस तरह से भाजपा के साथ अन्याय हो रहा है, लोग खुद देख रहे हैं। अनुमति के मिलने के बावजूद रैली निकालने पर टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने पत्थर फेंके। उन्होंने कहा कि बंगाल में जंगलराज कायम कर दिया गया है। पुलिस को दल दास बनाकर कार्यकर्ता की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की बढ़ती ताकत से डरकर तृणमूल कांग्रेस हिंसा का सहारा ले रही है। शुभेंदु ने कहा कि पथराव से आक्रोशित भाजपा कार्यकर्ताओं ने टीएमसी के घर में घुसकर तोड़फोड़ की। उल्लेखनीय है कि घटना क्षेत्र मुख्यमंत्री के आवास क्षेत्र में है।

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो प्रिंस अनवर शाह रोड पर शुभेंदु अधिकारी के सामने तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने काले झंडे दिखाए और मीरजाफर गो बैक के नारे लगाए। 

पथराव के बाद राज्य के मंत्री और तृणमूल नेता अरूप राय भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने कहा कि तृणमूल नहीं बल्कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने हमला किया है। उन्होंने बताया कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता बैनर पोस्टर लगा रहे थे, तभी भाजपा के कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला कर दिया। ममता बनर्जी की होर्डिंग भी तोड़ दी। 

उल्लेखनीय है कि इसके पहले खिदिरपुर इलाके में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय की रैली पर भी जूते फेंके गए थे।

यह खबर भी पढ़े: कोरोना वैक्सीनेशन से नहीं हार्ट अटैक से हुई वार्ड ब्वाय की मौत

From around the web