‘हरित एवं स्वच्छ ऊर्जा’ के लिए ‘सक्षम’-2021 अभियान शुरू

 


नई दिल्ली। देश में ‘हरित एवं स्वच्छ ऊर्जा’ के लिए केंद्र सरकार ने पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तत्वावधान में शनिवार को ‘सक्षम’-2021 अभियान का शुभारंभ किया। एक माह तक चलने वाले ‘सक्षम’ का उद्देश्य उपभोक्ताओं को स्वच्छ ईंधनों की तरफ प्रेरित करने के लिए भरोसा दिलाना तथा जीवाश्म ईंधन का बुद्धिमानी से उपयोग करने के लिए व्यवहारगत बदलावों को लाना है।

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सचिव तथा पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान एसोसिएशन (पीसीआरए) के अध्यक्ष तरुण कपूर ने आज यहां अभियान की शुरुआत की। इस अवसर पर ऊर्जा सक्षम पीएनजी स्टोव के संवर्धन के लिए पीसीआरए तथा ईईएसएल के बीच एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर भी हस्ताक्षर किया गया। इस अवसर पर तरुण कपूर ने कहा कि सक्षम जैसी पहलें ऊर्जा उपभोग को घटाने तथा ऊर्जा दक्षता उपायों को अपनाने में सहायता करती हैं, जिससे लोगों का जीवन स्तर बेहतर होता है, स्वच्छ पर्यावरण, निर्वहनीयता बढ़ती है तथा देश का विकास होता है। कपूर ने कहा कि इस वर्ष के अभियान की थीम न केवल जीवाश्म ईंधनों के संरक्षण पर, बल्कि हरित ऊर्जा को भी बढ़ावा देने पर फोकस करती है।

उन्होंने कहा कि सभी ऊर्जा कंपनियां अब ईंधनों, जो स्वच्छ हैं तथा बहुत कम कार्बन फुटप्रिंट छोड़ती हैं, में परिवर्तन का हिस्सा हैं। कपूर ने भारत की ऊर्जा मांग में वृद्धि को देखते हुए ऊर्जा संरक्षण की आवश्यकता पर जोर दिया और जब हम आगे की ओर बढ़ रहे हैं, ऊर्जा दक्षता तथा निर्वहनीयता के दोहरे लक्ष्य को अर्जित करने के लिए प्रौद्योगिकियों का लाभ उठाने तथा डिजिटल नवोन्मेषण की अपील की। कपूर ने कहा कि साइक्लोथॉन, किसान कार्यशालाओं, संगोष्ठियों, चित्रकला प्रदर्शनी, सीएनजी वाहन ड्राइविंग प्रतियोगिता आदि जैसी देश भर में चलने वाली विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से यह अभियान स्वच्छ ईंधन के उपयोग के लाभों के बारे में आम लोगों के बीच जागरूकता फैलाएगा।

यह खबर भी पढ़े: ममता बनर्जी के विधायकों ने जबरन लगवाया कोविड-19 का टीका

From around the web