अयोध्या के संतों ने आंदोलनरत किसानों पर लगाया बड़ा आरोप, कहा- यह सब राष्ट्र विरोधी लोग हैं और केवल अपनी राजनीतिक...

 


नई दिल्ली। तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का आज 47वां दिन है। किसानों के इस शांत आंदोलन की ‘ताकत’ भी लगातार बढ़ती जा रही है। ठंड और बारिश की परवाह किए बिना हरियाणा, पंजाब, यूपी, राजस्थान समेत अन्य राज्यों से किसानों के जत्थे रसद के साथ लगातार धरनास्थल पर पहुंच रहे हैं। इस बीच संत समाज भी आंदोलन करने वालों को देश द्रोही बता रहे है। 

दरअसल, कृषि बिल के विरोध में दिल्ली के बॉर्डर पर किसानों का जमकर हंगामे के बाद 48 दिनों से धरने पर बैठ है इस दौरान चल रहे नारे बाजी में देश द्रोही नारे लगाए जाने का आरोप है। राजस्थान पत्रिका की एक खबर के मुताबिक किसानों के आंदोलन पर महंत कमल नयन दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र ने किसानों के लिए जो क़ानून बनाया इससे किसान प्रसन्न हैं। 

अयोध्या के संतों ने आंदोलनरत किसानों पर लगाया बड़ा आरोप, कहा- यह सब राष्ट्र विरोधी लोग हैं और केवल अपनी राजनीतिक...

उनका कहना है कि इस आंदोलन में कोई भी किसान नही है, यह सब राजनीति की रोटी सेक रहे हैं और राष्ट्र विरोधी लोग हैं। जिसके लिए अलग अलग तरह से आंदोलन चलाने के लिए मांग कर रहे हैं और यह लोग चाहते हैं कि उपद्रव हो जाये। लेकिन अभी उनकी बचाया जा रहा है और ये लोग देश द्रोही है, जिनका जबाब जनता देगी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर समाज को एक करने का कार्य किया है और इसको किस प्रकार खंडित किया जाए। इसलिए बड़े स्तर पर साजिश रची गई है, जिसमे इस्लामिक और खालिस्तानी आतंकवादी पाकिस्तान व चीन लोग है।

अयोध्या के संतों ने आंदोलनरत किसानों पर लगाया बड़ा आरोप, कहा- यह सब राष्ट्र विरोधी लोग हैं और केवल अपनी राजनीतिक...

गौरतलब है कि आंदोलनकारी किसान 28 नवंबर से यूपी गेट पर डेरा डाले हुए हैं और 3 दिसंबर से NH-9 के गाजियाबाद-दिल्ली कैरिजवे को भी बंद कर दिया है। इसके मद्देनजर दिल्ली की सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सिंघु बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया।

यह खबर भी पढ़े: देश के लगभग सभी जिलों में पूरा हुआ ड्राई रन पूरा, अब भारत में 16 जनवरी से शुरू होगा दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण

 

From around the web