किसानों को रोकने के कदम को राहुल गांधी ने बताया 'मोदी सरकार की क्रूरता'

 


नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों के प्रदर्शन और 'दिल्ली चलो' मार्च को लेकर शान्ति बनाए रखने के लिए सरकार और प्रशासन पूरी तैयारी में है। किसानों को दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग पर पानी की बौछारों का भी उपयोग किया। पुलिस के इस व्यवहार पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दावा किया कि 'मोदी सरकार की क्रूरता' भी किसानों को रोकने में सफल होती नहीं दिख रही।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवर को ट्वीट कर कहा कि 'नहीं हुआ है अभी सवेरा, पूरब की लाली पहचान। चिड़ियों के जगने से पहले, खाट छोड़ उठ गया किसान। काले कानूनों के बादल गरज रहे गड़-गड़, अन्याय की बिजली चमकती चम-चम। मूसलाधार बरसता पानी, जरा ना रुकता लेता दम! मोदी सरकार की क्रूरता के खिलाफ देश का किसान डटकर खड़ा है।' अपने ट्वीट के साथ राहुल गांधी ने दिल्ली पहुंचने की कोशिश कर रहे किसानों को रोके जाने और उन पर पानी की बौछार करने से जुड़ा एक वीडियो साझा किया है। जिसमें दिख रहा है कि किसानों को रोकने के लिय़ए पुलिस प्रशासन सभी प्रकार के बल प्रयोग करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

दरअसल किसानों की मांग है कि कृषि कानूनों को वापस लिया जाए। उनका कहना है कि ये कानून किसान-विरोधी हैं और अपनी ही जमीन पर किसान मजदूर बनकर रह जाएंगे और सारा नियंत्रण बड़े उद्योगपतियों के हाथ में चला जाएगा।

उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के 'दिल्ली चलो मार्च' को विफल बनाने के लिए बीते दिन बुधवार को हरियाणा ने पंजाब से सटी अपनी सीमा पर अवरोधक लगाए थे। साथ ही पड़ोसी राज्य के साथ बस सेवा भी निलंबित कर दी। हरियाणा पुलिस ने किसानों को दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए अंबाला और कुरुक्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग पर पानी की बौछारों का भी उपयोग किया। भाजपा शासित हरियाणा ने किसानों के 'दिल्ली चलो मार्च' के मद्देनजर पंजाब के साथ अपनी बस सेवा बुधवार से तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दी।

यह खबर भी पढ़े: राहत की खबर, दिल्ली में धीरे-धीरे कम हो रही कोरोना की पॉजिटिविटी रेट

यह खबर भी पढ़े: पाकिस्तान: बिलावल भुट्टो कोरोना पॉजिटिव, लेकिन पार्टी स्थापना दिवस समारोह में होंगे शामिल !

From around the web