प्रधानमंत्री मोदी ने इशारे-इशारे में पाकिस्तान से लेकर चीन तक भारत की मजबूती का किया जिक्र

 
प्रधानमंत्री मोदी ने इशारे-इशारे में पाकिस्तान से लेकर चीन तक भारत की मजबूती का किया जिक्र


मुंबई। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इशारे-इशारे में पाकिस्तान से लेकर चीन तक भारत की मजबूती का जिक्र किया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने की प्रेरणा भी उन्हें नेताजी सुभाष चंद्र बोस से ही मिली है। उन्होंने कहा, आज हर भारतीय अपने दिल पर हाथ रखे, नेताजी सुभाष को महसूस करे, तो उसे फिर ये सवाल सुनाई देगा- क्या मेरा एक काम कर सकते हो? ये काम, ये काज, ये लक्ष्य आज भारत को आत्मनिर्भर बनाने का है।

देश का जन-जन, देश का हर क्षेत्र, देश का हर व्यक्ति इससे जुड़ा है। मुझे संतोष है कि आज देश पीड़ित, शोषित वंचित को, अपने किसान को, देश की महिलाओं को सशक्त करने के लिए दिन-रात एक कर रहा है। आज हर एक गरीब को मुफ्त इलाज की सुविधा के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं मिल रहीं हैं। हिन्दुस्तान का एक-एक व्यक्ति नेताजी का ऋणी है। 130 करोड़ से ज्यादा भारतीयों के शरीर में बहती रक्त की एक-एक बूंद नेताजी सुभाष की ऋणी है।

 नेताजी ने कहा था कि आजाद भारत के सपने में कभी भरोसा मत खोइए। दुनिया में ऐसी कोई ताकत नहीं है जो भारत को बांधकर रख सके। वाकई दुनिया में ऐसी कोई ताकत नहीं है जो 130 करोड़ देशवसियों को अपने भारत को आत्मनिर्भर भारत बनाने से रोक सके। नेताजी जिस भी स्वरूप में हमें देख रहे हैं, हमें आशीर्वाद दे रहे हैं। जिस भारत की उन्होंने कल्पना की थी, एलएसी से लेकर एलओसी तक, भारत का यही अवतार दुनिया देख रही है। जहां कहीं से भी भारत की संप्रुता को चुनौती देने की कोशिश की गई, भारत उसका मुंहतोड़ जवाब दे रहा है। नेताजी, आत्मनिर्भर भारत के सपने के साथ ही सोनार बांग्ला की भी सबसे बड़ी प्रेरणा हैं। जो भूमिका नेताजी ने देश की आजादी में निभाई थी, वही भूमिका पश्चिम बंगाल को आत्मनिर्भर भारत में निभानी है।"

यह खबर भी पढ़े: भारतीय की ऐतिहासिक जीत से खुश आनंद महिंद्रा इन छह युवा खिलाड़ियों को तोहफे में देंगे SUV कार

From around the web