'पराक्रम दिवस' की तैयारियां पूरी, कोलकाता में पीएम मोदी और सीएम ममता दिखाएंगे दम

 


कोलकाता। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर केंद्र की ओर से बनाए जाने वाले 'पराक्रम दिवस' के लिए कोलकाता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम की सारी तैयारियां पूरी हो गई हैं। उधर दूसरी ओर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी केंद्र सरकार से इतर नेताजी जयंती पर सुभाष उत्सव और एक नायक दिवस का पालन करेंगी। इसके लिए वह कोलकाता के श्याम बाजार से नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा तक पदयात्रा करने वाली हैं। उनके साथ उनकी पार्टी के कई बड़े नेता मार्च करेंगे। 

प्रधानमंत्री मोदी दक्षिण कोलकाता स्थित विक्टोरिया मेमोरियल परिसर में आयोजित होने वाले पराक्रम दिवस के उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करेंगे। इस कार्यक्रम में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी आमंत्रित हैं। इस दिन सिर्फ कार्यक्रम ही नहीं बल्कि विक्टोरिया मेमोरियल में दो नए गैलरी का भी पीएम उद्घाटन करेंगे। नेताजी को लेकर तैयार की गई गैलरी का नाम निर्भिक सुभाष रखा गया है। एक अन्य गैलरी देश के अन्य स्वतंत्रता आंदोलनकारियों को लेकर तैयार की गई है जिसका नाम विप्लवी भारत रखा गया है। यहां नेताजी पर केंद्रित ‘आमरा नूतन यौवनेरी दूत’ नामक सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया जाएगा। 

विशेष विमान से कोलकाता एयर पोर्ट पहुंचने के बाद पीएम दोपहर तीन बजे हेलीकॉप्टर से रेस कोर्स स्थित हेलीपैड पर उतरेंगे और वहां से पहले वह राष्ट्रीय पुस्तकालय पहुंचेंगे, जहां कई कार्यक्रमों व चित्र पदर्शनी का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद शाम पांच बजे विक्टोरिया मेमोरियाल आएंगे। उनके दौरे को लेकर एक दिन पहले से ही उनके कार्यक्रम स्थल राष्ट्रीय पुस्तकालय और विक्टोरिया मेमोरियल के इर्द-गिर्द सुरक्षा बढ़ा दी गई है। केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों ने दक्षिण कोलकाता स्थित राष्ट्रीय पुस्तकालय परिसर और विक्टोरिया मेमोरियल को एक तरह से किले में तब्दील कर दिया है। सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद बनाए रखने और निगरानी के लिए लगभग 2000 पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा। प्रधानमंत्री के निजी सुरक्षा दल(एसपीजी) पहले ही कोलकाता पहुंच चुके हैं और पीएम के कार्यक्रम स्थलों की सुरक्षा संभाल लिया है। 

राष्ट्रीय पुस्तकालय में नेताजी पर होगा विशेष कार्यक्रम 
अलीपुर स्थित राष्ट्रीय पुस्तकालय में नेताजी सुभाष चंद्र बोस पर विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। नेशनल लाइब्रेरी कोलकाता, संस्कृति मंत्रालय व नेताजी सुभाषचंद्र बोस आइएनए ट्रस्ट के संयुक्त प्रयास से कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। नेशनल लाइब्रेरी में 4,000 मीटर के कैनवास पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस से जुड़ी पेंटिंग बनाई गई है। राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय के महानिदेशक ने यह पेंटिंग बनाई है। उन्होंने पेंटिंग के माध्यम से नेताजी को कभी सूर्य, कभी भीष्म, कभी युवाओं की ऊर्जा, तो कभी बाधाओं को चीरकर निकलती हुई नदी के रूप में कैनवास पर उतारा है।

लाइफ एंड लीगेसी ऑफ सुभाष आर्ट कैंप का आयोजन होगा। पूर्व आंचलिक सांस्कृतिक केंद्र (ईजेडसीसी) के असिस्टेंट डायरेक्टर अमर दास ने कहा कि 100 से अधिक कलाकार कार्यक्रम में भाग लेंगे लेकिन पीएम की उपस्थिति में सिर्फ 36 कलाकार ही अपनी कला का प्रदर्शन कर पायेंगे। नेताजी की जीवन पर बनी पेंटिंग्स का नेशनल लाइब्रेरी के प्रांगण में भी प्रदर्शनी लगी है। इसी कार्यक्रम की वजह से शनिवार को शाम तक नेशनल लाइब्रेरी को बंद रखने का निर्देश दिया गया है।

यह खबर भी पढ़े: राजपथ पर राममंदिर, श्रम सुधारों और कोविड वैक्सीन विकास से जुड़ी झांकियां देंगी दिखाई

From around the web