पीएम-जय सेहत योजना जम्मू कश्मीर के हर नागरिक के स्वास्थ्य की चिंताः शाह

 


नई दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर में पीएम-जेएवाई स्वास्थ्य योजना की शुरुआत को जम्मू कश्मीर के लिये एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक दिन बताते हुए कहा कि आज जम्मू कश्मीर के लिए बड़ा ही महत्वपूर्ण और शुभ दिन है। आज एक ऐसी क्रांतिकारी शुरुआत होने जा रही है, जिसमें जम्मू कश्मीर के हर नागरिक के स्वास्थ्य की चिंता की जाएगीप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सेहत स्वास्थ्य योजना की शुरुआत में भाग लेते हुए अमित शाह ने कहा कि यह महत्वपूर्ण शुरुआत आने वाले दिनों में जम्मू कश्मीर के स्वास्थ्य क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन लाएगी। लगभग 15 लाख परिवारों को 5 लाख तक की सभी स्वास्थ्य सुविधाएँ निशुल्क मिलने जा रही हैं। उन्होंने कहा कि देश भर में यह स्कीम प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के नाम से लागू है लेकिन उसका लाभ सिर्फ गरीबों के लिए है। 60 करोड़ गरीबों के लिए यह योजना लगभग 2 साल से स्वास्थ्य क्षेत्र में चमत्कारिक काम कर रही है और अब तक 1.5 करोड़ लोगों ने अस्पताल में दाखिल होकर छोटे मोटे ऑपरेशन से लेकर बड़े ऑपरेशन कराएं हैं। उनके स्वस्थ होकर घर वापस आने तक की सभी सुविधाएँ प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत दी गई हैं।

शाह ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के साथ-साथ सेहत को जोड़कर हर कश्मीरी भाई-बहनों और जम्मू कश्मीर के सारे नागरिकों के लिए यह योजना आज शुरू होने जा रही है। शायद जम्मू कश्मीर ऐसा पहला केंद्र शासित प्रदेश है जहाँ यह योजना हर नागरिक को मिलने जा रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जम्मू कश्मीर के लिए जो लगाव है और उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने जिस प्रकार से प्रयास किया है, यह उन्ही प्रयासों का नतीजा है कि कल से हर कश्मीरी इस योजना का लाभ उठा सकेगा।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि जम्मू कश्मीर के करीब 229 सरकारी और 35 प्राइवेट अस्पताल इस योजना के लिए सूचीबद्ध किये गए हैं। इन अस्पतालों में जो भी नागरिक जायेगा, जम्मू और कश्मीर दोनों का उसके फ्री ऑफ़ कॉस्ट इलाज़ का 5 लाख तक का सारा खर्च भारत सरकार उठाएगी, जम्मू कश्मीर प्रशासन उठाएगा। अमित शाह ने यह भी कहा कि इस योजना से जम्मू-कश्मीर में  स्वास्थ्य के क्षेत्र में इन्फ्राट्रक्चर को और बढ़ावा मिलेगा और नए प्राइवेट तथा अच्छे-अच्छे अस्पताल आएंगे जो जम्मू-कश्मीर के नागरिकों की सेवा करेंगे। उन्होंने कहा कि वह दिन दूर नहीं है जब जम्मू-कश्मीर के नागरिकों को बड़ी से बड़ी स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जम्मू-कश्मीर से बाहर नहीं जाना पड़ेगा।

यह खबर भी पढ़े: शुभेन्दु ने तृणमूल पर साधा निशाना, कहा 21 सालों तक इस पार्टी में रहने पर हो रही शर्मिंदगी

From around the web