ऑनलाइन गेमिंग के भ्रामक विज्ञापनों पर सूचना व प्रसारण मंत्रालय ने जारी किए दिशा-निर्देश

 


नई दिल्ली। केन्द्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने ऑनलाइन गेमिंग पर 'भ्रामक' विज्ञापनों को लेकर चिंता व्यक्त की है। इसको लेकर विस्तृत दिशा-निर्देश भी जारी किया है। इस संबंध में केन्द्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार को ट्वीट करके कहा कि सभी निजी टीवी चैनलों से कहा गया है कि वे आय के अवसर या वैकल्पिक रोजगार विकल्प के तौर पर ऐसे विज्ञापन दिखाने से बचें। निजी टीवी चैनलों को 24 नवम्बर को जारी भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (एएससीआई) की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा, जो 15 दिसंबर से लागू होंगे। 

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा  कि ऑनलाइन गेमिंग, काल्पनिक खेल (फैंटेसी स्पोर्ट्स) पर बड़ी संख्या में विज्ञापन टेलीविजन पर दिखाई दे रहे हैं। ऐसे विज्ञापन भ्रामक प्रतीत होते हैं। चर्चा और सलाह के बाद यह सहमति हुई कि विज्ञापनों के पारदर्शी होने और उपभोक्ताओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए विज्ञापनदाताओं और प्रसारकों के लिए एएससीआई उचित दिशा-निर्देश जारी करेगा। 

दिशा-निर्देश के तहत प्रिंट में ऑनलाइन गेमिंग और फैंटसी स्पोर्ट्स के बारे में विज्ञापन के साथ चेतावनी संदेश भी जारी करना होगा, जिसमें इसके नतीजे और लत के बारे में जानकारी स्पष्ट रूप से जारी किया गया  हो। इसी तरह टीवी या फिर रेडियो में भी विज्ञापन चेतावनी के साथ जारी करना अनिवार्य होगा।

यह खबर भी पढ़े: ओवैसी का दावा: कहां है भाजपा स्टॉर्म? हैदराबाद में जहां-जहां गए शाह-योगी, वहां हारी पार्टी

यह खबर भी पढ़े: Bigg Boss 14: राहुल, रुबीना, जैस्मिन और निक्की में से ये कंटेस्टेंट हुआ घर से बेघर, नाम जानकर आपको भी लगेगा झटका

From around the web