Live Updates/सरकार के साथ किसानों की 11वें दौर की बैठक भी बेनतीजा रही, आगे की कोई तारीख तय नहीं हुई

 


नई दिल्ली। तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का आज 58वां दिन है। किसानों के इस शांत आंदोलन की ‘ताकत’ भी लगातार बढ़ती जा रही है। ठंड की परवाह किए बिना हरियाणा, पंजाब, यूपी, राजस्थान समेत अन्य राज्यों से किसानों के जत्थे रसद के साथ लगातार धरनास्थल पर पहुंच रहे हैं। इस बीच आज सरकार और किसानों के बीच 11वें दौर की बैठक भी बेनतीजा रही। 

किसानों के साथ बैठक में सरकार ने अपील की है कि संगठन एक बार फिर सरकार के प्रस्ताव पर चर्चा करें। सरकार ने बुधवार की 10वें दौर की मीटिंग में किसानों को कृषि कानून डेढ़ साल तक होल्ड करने का प्रस्ताव दिया था। केंद्र सरकार और किसानों के बीच विज्ञान भवन में चल रही 11वें दौर की वार्ता खत्म हो गई है।  

शुक्रवार को हुई इस बैठक में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, 'सरकार आपके सहयोग के लिए आभारी है। कानून में कोई कमी नही है। हमने आपके सम्मान में प्रस्ताव दिया था। आप निर्णय नहीं कर सके। आप अगर किसी निर्णय पर पहुंचते है तो सूचित करें। इस पर फिर हम चर्चा करेंगे। आगे की कोई तारीख तय नहीं है।'

बता दें कि अब तक किसान संगठनों की सरकार के साथ 11 बैठकें हो चुकी हैं, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। 22 जनवरी की वार्ता भी बेनतीजा रही है। गौरतलब है कि आंदोलनकारी किसान 28 नवंबर से दिल्ली की बॉर्डर पर डेरा डाले हुए हैं। साथ ही किसानों ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली करने का ऐलान किया है। 

यह खबर भी पढ़े: कोर्टों की सुरक्षा पर कोताही बर्दाश्त नहीं: हाई कोर्ट

 

From around the web