कोलकाता मेट्रो में अब नहीं लगेगा ई पास, 18 जनवरी से बढेंगे फेरे

 


कोलकाता। राजधानी कोलकाता की लाइफ लाइन कही जाने वाली मेट्रो में आगामी 18 जनवरी से  ई-पास नहीं लगेगा। कोरोना संकट की वजह से भीड़ नियंत्रित  करने और शारीरिक दूरी के प्रावधानों का पालन करने के लिए मेट्रो रेल प्रबंधन ने ई पास अनिवार्य किया था।  इसके तहत कोलकाता  मेट्रो के मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए पहले से स्लॉट बुक करके लोग परिसर में प्रवेश कर पाते थे। इससे सीमित संख्या में लोगों को प्रवेश की अनुमति दी जाती थी। 

बुधवार को  मेट्रो रेलवे की मुख्य जनसंपर्क अधिकारी इंद्राणी बनर्जी ने "हिन्दुस्थान समाचार" को बताया कि 18 जनवरी से कोई ई-पास नहीं लगेगा। कुछ दिनों पहले केवल बुजुर्ग नागरिकों और बच्चों के लिए ही ई-पास में छूट दी गयी थी लेकिन उन्होंने कहा कि अब किसी को भी पास लेकर मेट्रो परिसर में आने की जरूरत नहीं होगी। हालांकि टोकन प्रणाली अभी भी शुरू नहीं की गयी है। यानी केवल स्मार्ट कार्ड के जरिए यात्रा हो सकेगी। इसके साथ ही  18 जनवरी से सोमवार से शुक्रवार के बीच 228 की जगह 240 फेरे लगेंगे। 

शनिवार और रविवार को फेरों की संख्या  पूर्ववत रहेगी।   इंद्राणी ने बताया कि कोलकाता मेट्रो के दोनों छोर यानी दमदम और कवि सुभाष मेट्रो स्टेशन से सुबह 7 बजे पहली ट्रेन रवाना होगी और आखिरी ट्रेन कवि सुभाष से रात 9:30 बजे और नोआपाड़ा से 9:25 बजे खुलेगी। 

यह खबर भी पढ़े: चुनाव आयोग की टीम ने विस चुनाव की तैयारियों को लेकर की समीक्षा बैठक

From around the web