kisan andolan: 10वें दौर की बातचीत रही बेनतीजा, आज भूख हड़ताल पर बैठेंगे किसान

 


नई दिल्ली। तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का आज 57वां दिन है।  किसानों के इस शांत आंदोलन की ‘ताकत’ भी लगातार बढ़ती जा रही है। ठंड की परवाह किए बिना हरियाणा, पंजाब, यूपी, राजस्थान समेत अन्य राज्यों से किसानों के जत्थे रसद के साथ लगातार धरनास्थल पर पहुंच रहे हैं। इस बीच केंद्रीय कृषि कानूनों का विरोध करे रहे किसान आज भूख हड़ताल करेंगे। छत्तीसगढ़ के किसान नेता भी भूख हड़ताल करेंगे।

बता दें कि छत्तीसगढ़ के किसान नेता दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर हड़ताल पर बैठे हैं। वहीं आज भूख हड़ताल करेंगे। किसान नेता खेती बचाओ यात्रा निकालकर दिल्ली पहुंचे हैं। बता दें कि छत्तीसगढ़ में 8 जनवरी से खेती बचाओ यात्रा जारी है।

किसान आंदोलन में छत्तीसगढ़ के 36 से अधिक संगठन प्रदर्शन कर रहे। यह प्रदर्शन छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ के बैनर तले हो रहा। उधर, किसान संगठनों और सरकार के बीच चर्चा एक बार फिर बेनतीजा रहा।

बता दें कि अब तक किसान संगठनों की सरकार के साथ 10 बैठकें हो चुकी हैं, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। 20 जनवरी की वार्ता भी बेनतीजा रही है। गौरतलब है कि आंदोलनकारी किसान 28 नवंबर से दिल्ली की बॉर्डर पर डेरा डाले हुए हैं। साथ ही किसानों ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली करने का ऐलान किया है। 

हालांकि बैठक में सरकार ने डेढ़ साल तक कानून होल्ड पर रखने का प्रस्ताव दिया। वहीं अब 22 जनवरी को किसान संगठनों और सरकार के बीच फिर से बैठक होगी।

यह खबर भी पढ़े: हाई कोर्ट: शादीशुदा होते हुए गैर मर्द के साथ पति-पत्नी की तरह रहना लिव इन नहीं, अपराध

यह खबर भी पढ़े: गुरुवार, 21 जनवरी 2021: जानिए आज का राशिफल

From around the web