आईआईटी दिल्ली का गोल्डन जुबली दीक्षांत समारोह दो नवंबर को

 

नई दिल्ली। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान(आईआईटी) दिल्ली का 50 वां गाेल्डन जुबली दीक्षांत समारोह कल यहां आयोजित किया जाएगा जिसमें 1217 स्नातकोत्तर और 825 स्नातक इंजीनियरिंग छात्राें की डिग्रियां प्रदान की जाएंगी।

यह खबर भी पढ़ें:​ लिखकर ले लीजिए, मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा: संजय राउत

इसमें राष्ट्रपति का स्वर्ण पदक , कंप्यूटर साइंस(बीटेक) की काचाम प्रानीथ और निदेशक का स्वर्ण पदक मल्लिका सिंह, बायोमेडिकल इंजीनियरिंग और बायोटेक्नाेलाजी(बीटेक) तथा डा़ शंकर दयाल शर्मा स्वर्ण पदक हिमाक्शी बारसीवाल, एमटेक , केमिकल इंजीनियरिंग को दिया जाएगा।

आईआईटी दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर वी रामगोपाल राव ने आज यहां पत्रकारों को बताया कि संस्थान के लिए यह काफी गौरव की बात है कि इसका गोल्डन जुबली दीक्षांत समारोह होगा और इसमें मुख्य अतिथि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के अध्यक्ष डा़ के शिवन हाेंगे। उन्होंने कहा कि यह संस्थान के लिए यह भी गौरव की बात होगी कि कल के दीक्षांत समारोह के बाद संस्थान से उर्तीण छात्रों की संख्या 50 हजार हो जाएगी।

डा़ राव ने बताया कि गुरूवार को राष्ट्रपति भवन में आईआईटी के पूर्व छात्रों की तरफ ‘ बिलियन डालर एंडोमेंट ड्राइव’ का शुभारंभ राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने किया था। इस कार्यक्रम में आईआईटी दिल्ली के पूर्व छात्रों ने संस्थान की विकासात्मक गातिविधियाें को बढ़ावा देने के लिए इस फंड़ की शुरूआत की है और कल ही इसमें 255 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं। इस फंड़ को वर्ष 2020 तक बढ़ाकर एक हजार करोड़ रुपए करना हैं और जब यह लक्ष्य हासिल कर लिया जाएगा तो इस पर मिलने वाले ब्याज का इस्तेमाल संस्थान के भीतर विभिन्न विकासात्मक गतिविधियों के लिए हो सकेगा।

उन्होंने बताया कि कल इसरो प्रमुख की मौजूदगी में एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए जाएंगे और इसके बाद आईआईटी दिल्ली के परिसर में इसरो के अंतरिक्ष तकनीकी प्रकाेष्ठ की स्थापना की जाएगी जिससे छात्र अंतरिक्ष संबंधी शोध गतिविधियों को अंजाम दे सकेंगे।

डा़ राव ने बताया कि आईआईटी दिल्ली ने पिछले दो वर्षों में छह नए अकादमिक कार्यक्रम शुरू किए हैं और इनके जरिए आधुनिक प्रवृतियाें और राष्ट्रीय जरूरत के विषयों पर शोध को बढ़ावा दिया जाएगा। पिछले चार वर्षों में संस्थान के शोध गतिविधियों संबंधी बजट में 300 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की गई है। इसके अलावा संस्थान अपनी शोध संबंधी गातिविधियों में इजाफा करने के लिए 250 करोड़ रुपए का निवेश कर रहा है और परिसर में 750 करोड़ रुपए लागत वाली विभिन्न आधारभूत ढांचे संबंधी परियोजनाएं विचाराधीन है।

उन्होंने बताया कि संस्थान के गोल्डन जुबली दीक्षांत समारोह को यादगार बनाने के लिए कल डाक विभाग की तरफ से एक स्म़़ृति टिकट भी जारी किया जाएगा। इस दीक्षांत समारोह में चार स्नातकोत्तर छात्रों को‘ परफैक्ट 10 गोल्ड मेडल’और बीटेक के 14 स्नातकों को ‘सिल्वर मेडल ’से सम्मानित किया जाएगा। परफैक्ट 10 गोल्ड मेडल उन छात्रोें को दिया जाएगा जिनका सीजीपीए स्कोर दस में से दस रहा है।

मात्र 2600/- प्रति वर्गगज में फार्म हाउस एवं प्लॉट टोंक रोड, जयपुर  में 9314166166

From around the web