प्रधानमंत्री मोदी से संवाद कर गदगद दिखी चित्रकूट की दलित राजकुमारी

 


चित्रकूट। केंद्र सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं की जमीनी हकीकत जानने के लिए प्रधानमंत्री प्रधामनंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पीएम आवास योजना की लाभार्थी चित्रकूट जिले के खोह गांव निवासी राजकुमारी पत्नी कल्लू रैदास से बातचीत कर मिल रही सरकारी योजनाओं के लाभ के बारे में जानकारी ली। 

प्रधामनंत्री के संवाद कार्यक्रम के दौरान लाभार्थी राजकुमार के आवास पर योगी सरकार के मंत्री चंद्रिका उपाध्याय,बांदा-चित्रकूट सांसद आर. के. सिंह पटेल एवं जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय मौजूद रहे। पीएम के संवाद को सुनने के लिए खोह गांव के लोगों में भारी उत्साह रहा। गांव के बाहर लगाई गई बड़ी-बड़ी एलईडी स्क्रीनों में सैकडों लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी का लाइव सम्बोधन सुना। 

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएम आवास योजना की जमीनी हकीकत जानने के लिए बुधवार को संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया। उत्तर प्रदेश के सबसे पिछड़े एवं आकांक्षी जिले में शामिल चित्रकूट जिले के खोह गांव निवासी राजकुमार पत्नी कल्लू रैदास को चुना गया। कार्यक्रम को लेकर लाभार्थी राजकुमार समेत पूरे गांव में खासा उत्साह था। वहीं पीएम मोदी के कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन खासा चौकन्ना रहा। 

जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय के नेतृत्व में सीडीओ अमित आसेरी, एसडीएम रामप्रकाश और बीडीओ राजेश नायक, जिला विज्ञान अधिकारी मनोज कुमार यादव आदि अधिकारी संवाद कार्यक्रम की व्यवस्थाओं को चौकस करने में जुटे रहे। बुद्धवार को करीब 12 बजे से प्रधानमंत्री के संवाद कार्यक्रम की शुरूआत हुई। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी का स्वागत एवं अभिनंदन किया। साथ ही केंद्र सरकार द्वारा संचालित पीएम आवास आदि जनकल्याणकारी योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत किया। संवाद के दौरान पीएम मोदी ने राजकुमारी से पूछा कि कच्ची छत के घर में बारिश का पानी आता था, लेकिन अब पक्का घर बन रहा है उससे खुश हैं। पीएम ने कहा कि सभी का सपना रहता है कि पक्का आवास मिल जाए, जिसको पूरा करने का कार्य सरकार कर रही है। 

प्रधामनंत्री से हुई बातचीत को लेकर महिला सहित उसके परिजनों ने खुशी जताई। पीएम मोदी से राजकुमारी ने बताया कि उसको आवास, शौचालय, आयुष्मान गोल्डन कार्ड, राशन कार्ड एवं किसान सम्मान निधि आदि सरकार की योजनाओं का लाभ मिल चुका है। इससे परिवार खुशहाल हो गया है। बताया कि उसके पति पत्थरों की खदान में मजदूरी करते हैं। उसके तीन पुत्र है, दो पुत्र ईट भट्टा में काम करने के लिए शहर गये है। चार पुत्रियां है, जिसमें आशा देवी, आरती देवी का विवाह हो गया है। पुष्पा व सीमा देवी है। जिसमें पुष्पा हाईस्कूल तक पढ़ाई किया है। सीमा देवी आठ में पढ़ रही है। 

बताया कि, वह अशिक्षित है। एक पुत्र को बीए तक शिक्षा भी दिलाई है। उसे नौकरी की तलाश है। इससे बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सम्बोधन की शुरूआत देश वासियो को प्रकाश पर्व की बधाई देकर किया। उन्होंने कहा कि मुझ पर गुरु साहेब की विशेष कृपा रही है। प्रधानमंत्री ने पीएम आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत लगभग 2691 करोड़ रुपये की सहायता राशि जारी किया। आज 80 हजार परिवारों को मकान की दूसरी किस्त जारी की गई। प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत करीब 6 लाख लाभार्थियों को आर्थिक राशि जारी हो चुकी है। केंद्र सरकार 2022 तक हर गरीब को घर देने की योजना चलाई जा रही है, जिसके तहत मदद दी जा रही है। 

सम्बोधन में पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा। कहा कि पहले जो सरकारें थीं उस दौरान उत्तर प्रदेश में क्या स्थिति थी वो आप सभी ने देखी है। गरीब को ये विश्वास ही नहीं था कि सरकार भी घर बनाने में उसकी मदद कर सकती है। जो पहले की आवास योजनाएं थीं, जिस तरह से घर उनके तहत बनाए जाते थे, वो भी किसी से छिपा नहीं है। हमारी प्राथमिकता है कि सभी को मजबूत घर मिले। क्योंकि घर एक ऐसी व्यवस्था और वो सम्मानजनक तोहफा है, जो इंसान के आत्मविश्वास को कई गुना बढ़ा देता है। 

इसके अलावा प्रधानमंत्री ने कहा कि आज देश की कोशिश है कि मूलभूत सुविधाओं में गांव और शहर के बीच का अंतर कम किया जा सके। गांव में रहने वालों का सामान्य मानवीय जीवन भी उतना आसान होना चाहिए। प्रधानमंत्री आवास योजना को शौचालय, बिजली और पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं से भी जोड़ा जा रहा है। आज योगी सरकार की सक्रियता का परिणाम है कि यहां आवास योजना के काम की गति और तरीका दोनों बदला इसका फायदा जनता को मिला है। केंद्र सरकार द्वारा सबको आवास देने का लक्ष्य है। साल 2016 में इस योजना की शुरुआत हुई थी। अभी तक इस योजना में 1.26 करोड़ घर बनाए जा चुके है। संवाद के दौरान लाभार्थियों ने आवास योजना के लिए पीएम मोदी का आभार जताया। साथ ही कहा कि सरकार भगवान आपको लम्बी उम्र दे और बार-बार आपकी सरकार बने।

यह खबर भी पढ़े: टिकरी बॉर्डर पर किसान ने खाया जहरीला पदार्थ, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

From around the web