देश में आज से कोरोना वैक्सीनेशन का शुभारंभ, मोदी ने कहा- लॉकडाउन का फैसला आसान नहीं था

 


नई दिल्ली। कोरोना महामारी से जंग जीतने हेतु भारत में आज कोरोना वैक्सीनेशन का शुभारंभ हो गया है। इस दौरान भारत के पीएम नरेंद्र मोदी कोरोना महामारी को याद कर भावुक हो गए। उन्होंने बोला कि इतनी बड़ी जनसंख्या वाले देश में लॉकडाउन का निर्णय लेना सरल नहीं था, किंतु देश के लोगों ने अमल कर दुनिया में मिसाल कायम की। 

दुनियाभर में हिंदुस्तान के बेहतर काम की तारीफ हो रही है। उन्होंने बोला कि 35 लाख से अधिक लोग विदेशों से लाए गए। कोरोना वायरस की अफवाहों से बचकर रहे हैं। उन्होंने बोला कि भारत में पहला केस जनवरी महीने में आया था, जिसके बाद सरकार की तरफ से बड़े निर्णय लिए गए।

मोदी ने बोला, 'आज के दिन का पूरे देश को बेसब्री से इंतजार रहा है, कितने महीनों से देश के हर घर में बच्चे, बूढ़े, जवान सबकी जुबान पर ये ही सवाल था कि कोरोना की वैक्सीन कब आएगी। अब से कुछ ही मिनट बाद भारत में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू होने जा रहा है। मैं सभी देशवासियों को इसके लिए बधाई देता हूं।' 

उन्होंने बोला, 'कोरोना वैक्सीन की 2 डोज लगनी बहुत जरूरी है। पहली और दूसरी डोज के बीच लगभग एक महीने का अंतराल भी रखा जाएगा। दूसरी डोज़ लगने के 2 हफ्ते बाद ही आपके शरीर में कोरोना के विरुद्ध ज़रूरी शक्ति विकसित हो पाएगी। भारत वैक्सीनेशन के अपने पहले चरण में ही 3 करोड़ लोगों का टीकाकरण कर रहा है।' 

उन्‍होंने बताया कि भारत का टीकाकरण अभियान बेहत ही मानवीय  एवं अहम सिद्धांतों पर आधारित है। जिसे सर्वाधिक जरूरी है, उसे सबसे पहले कोरोना का टीका लगेगा।'

यह खबर भी पढ़े: Eng vs Sri: जो रूट ने लगाया टेस्ट करियर का चौथा दोहरा शतक, एशिया में खेली सबसे बड़ी पारी

From around the web