धनंजय मुंडे मामले की जांच 7 दिन में पूरा करें : अनिल देशमुख

 


मुंबई। गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सामाजिक न्यायमंत्री धनंजय मुंडे मामले की सभी जांच 7 दिन में पूरा करने का आदेश जारी किया है। देशमुख ने कहा कि कानून के निगाह में मंत्री हो या संतरी,सभी बराबर हैं। गृहमंत्री ने शनिवार को पत्रकारों को बताया कि धनंजय मुंडे पर लगे आरोप तथा उनपर आरोप लगाने वाली महिला पर लगे आरोपों की जांच का आदेश दिया गया है। इस मामले की रिपोर्ट 7 दिन में पुलिस उन्हें देने वाली है। इसके बाद सारे तथ्य सामने आ जाएंगे और कानून अपना काम करेगी। जानकारी के अनुसार अतिरिक्त पुलिस आयुक्त संदीप कर्णिक, सह पुलिस आयुक्त विश्वास नागरे पाटिल व सहायक पुलिस आयुक्त श्रीमती ज्योत्सना रासम गृहमंत्री से मिलीं थीं। इन सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से गृहमंत्री ने धनंजय मुंडे मामले की जानकारी ली। 

मंत्री धनंजय मुंडे पर आरोप लगाने वाली महिला रेणू शर्मा ने शनिवार को पुलिस के समक्ष अपना स्टेटमेंट दिया है। रेणू शर्मा के विरुद्ध ब्लैकमेलिंग का आरोप अब तक चार अलग-अलग लोगों ने लगाया है। इनमें भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक कृष्णा हेगड़े, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के नेता मनीष धुरी, जेट एयरवेज का कर्मचारी रिजवान सिद्दीकी व पुरुषोत्तम केंद्रे शामिल हैं। रिजवान सिद्दीकी व पुरुषोत्तम केंद्रे ने 2019  में ही रेणू शर्मा पर ब्लैकमेलिंग की शिकायत पुलिस स्टेशन में दर्ज करवाई थी। हालांकि रेणू शर्मा ने शनिवार को उन पर लगाए जा रहे ब्लैकमेलिंग के आरोपों को निराधार बताया है। रेणू शर्मा ने कहा कि उन पर आरोप उनका मनोबल गिराने के लिए लगाए जा रहे हैं । 

यह खबर भी पढ़े: त्रिपुरा में भी शुरू हुई कोरोना टीकाकरण अभियान, पहले दिन में 1399 लोगों को लगाया गया टीका

From around the web