BSF ने फिर खोली पाकिस्तान की पोल, जम्मू में खोज निकाली 150 मीटर लंबी सुरंग

 
BSF ने फिर खोली पाकिस्तान की पोल, जम्मू में खोज निकाली 150 मीटर लंबी सुरंग


नई दिल्ली। बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) को शनिवार को जम्मू-कश्मीर में एक और अंडर ग्राउंड सुरंग का पता चला है। 150 मीटर लंबी इस सुरंग का इस्तेमाल पाकिस्तान भारत में आतंकवादियों को भेजने के लिए करता था। माना जा रहा है कि इसका इस्तेमाल पाकिस्तान से आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए किया जाता था। पिछले 10 दिनों में यह दूसरा मौका है, जब इलाके में सुरंग मिली है।

BSF के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह जवानों द्वारा पिछले दस दिनों में जम्मू-कश्मीर में ढूंढी गई दूसरी सुरंग है। पिछले साल भी एक सुरंग का पता चल चुका है। कठुआ जिले के पनसार में बीएसएफ की चौकी के पास बॉर्डर पोस्ट नंबर 14 और 15 के बीच 30 फीट गहरी यह सुरंग है। बाड़ के दूसरी तरफ शकरगढ़ जिले में अभियाल डोगरा और किंगरे-डी-कोठे की पाकिस्तानी सीमा चौकी स्थित है।

पाकिस्तान का शकरगढ़, जोकि बाड़ के पार का इलाका है, जैश-ए-मोहम्मद के ऑपरेशनल कमांडर कासिम जान की देखरेख में चलने वाले आतंकी ट्रेनिंग फैसिलिटी की जगह है। भारतीय खुफिया विभाग का मानना है कि जान जम्मू में 19 नवंबर को हुए नगरोटा एनकाउंटर में शामिल था और साल 2016 के पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले का मुख्य आरोपी भी है। जान भारत में जैश के आतंकवादियों के मुख्य कमांडरों में से एक है।

BSF के मुताबिक, जहां यह सुरंग मिली, वहां पिछले साल जून में पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया गया था। ड्रोन के जरिए सीमा पार हथियार पहुंचाने की कोशिश की जा रही थी। पिछले 6 महीने में इंटरनेशनल बॉर्डर के सांबा और कठुआ में 4 सुरंगें मिली हैं। वहीं, पूरे जम्मू रीजन में सुरक्षाबलों की नजर में आने वाली यह 10वीं सुरंग है।

बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "यह काफी बड़ी है, क्योंकि यह सुरंग कम-से-कम 6 से 8 साल पुरानी लगती है और इसे लंबे समय से घुसपैठ के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा होगा। इसके अलावा, यह एक ऐसी जगह पर स्थित है, जहां 2012 के बाद से एक्शन देखा गया, जब पाकिस्तान ने फॉरवर्ड ड्यूटी प्वाइंट पर भारी गोलाबारी की थी और आसपास के क्षेत्र में जीरो लाइन पर एक नया बंकर बनाया था।''

इससे पहले पिछले साल 22 नवंबर को इंटरनेशनल बॉर्डर से सटे सांबा सेक्टर में एक सुरंग मिली थी। यह इंटरनेशनल बॉर्डर से 160 मीटर अंदर तक थी और 25 मीटर गहरी थी। नवंबर में ही नगरोटा में बन टोल प्लाजा के पास आतंकियों से हुए एनकाउंटर के बाद इस सुरंग का खुलासा हुआ था।

यह खबर भी पढ़े: किसानों के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिखने वाले 'मास्क मैन' को लेकर बड़ा खुलासा, कहा- मारपीट कर बुलवाया था झूठ

 

From around the web