श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए चंदा न देने वाले बयान पर भड़की भाजपा, टीआरएस से पूछा ये बड़ा सवाल

 


हैदराबाद। सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के कोरूतला से विधायक विद्यासागर के राम मंदिर को लेकर एक बयान से करीमनगर मेटपल्ली और अन्य क्षेत्रों में तनाव जैसी स्थिति पैदा हो गई है। इस पर भाजपा ने कड़ी आपत्ति जताते हुए टीआरएस से सवाल किया कि यह बयान टीआरएस का है या विधायक का निजी। भाजपा के इस सवाल पर टीआरएस ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

दरअसल, गुरुवार को टीआरएस विधायक विद्यासागर ने अपनी पार्टी के एक कार्यक्रम में कहा था कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए कोई भी चंदा न दें। विधायक का कहना था कि जब अपने गांव में राम मंदिर है, तब अयोध्या के राममंदिर निर्माण के लिए धन देने की आवश्यकता क्या है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर के नाम पर भाजपा नेता लोगों से भीख मांगते फिर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम सब भी श्रीराम के भक्त ही हैं, केवल माथे पर तिलक लगाने से कोई रामभक्त नहीं बनता।

विधायक की इस टिप्पणी पर भगवा ब्रिगेड ने आपत्ति जताते हुए शुक्रवार को कहा है कि विधायक का बयान हिंदुओं की धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचाने वाला तथा राष्ट्र मंदिर के खिलाफ राष्ट्र विरोधी है। हैदराबाद गोशामहल के भाजपा विधायक राजा सिंह ने हिंदू समाज की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए टीएमसी विधायक से सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने की मांग की।

भाजापा नेता और विधान परिषद के सदस्य रामचंद्र राव ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव से सवाल करता हॅूं कि कि सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति की यही नीति है या फिर विधायक का व्यक्तिगत बयान है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में भगवान श्रीराम का मंदिर एक राष्ट्र मंदिर है, प्रभु श्रीराम सभी के हैं। 

उन्होंने कहा कि सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति के विधायक कौन होते हैं, जो भक्तों से मंदिर निर्माण में सहयोग नहीं देने का आह्वान करें। उन्होंने कहा कि हर नागरिक को राजनीति से ऊपर उठकर मंदिर निर्माण के लिए अपनी शक्ति के अनुसार सहयोग करना चाहिए और लोग कर रहे हैं। इस प्रकार के टिप्पणियों से टीआरएस विधायक साबित क्या करना चाहते हैं? इसी बीच भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बंडी संजय ने कहा है कि भगवान राम भाजपा के नहीं, सबके आराध्य हैं।

यह खबर भी पढ़े: हाथरस मामले में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, गिरफ्तार पत्रकार कप्पन को दी वीडियो कांफ्रेंसिंग से बात करने की इजाजत

 

From around the web