मध्यप्रदेश के 32 जिलों में हुई बर्ड फ्लू की पुष्टि

 


भोपाल। मध्यप्रदेश में बर्ड फ्लू का प्रकोप तेजी से बढ़ता जा रहा है। यहां अब तक 32 जिलों कौवों और जंगली पक्षियों-मुर्गियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। इन जिलों में  इंदौर, आगर, नीमच, देवास, उज्जैन, खण्डवा, खरगौन, गुना, शिवपुरी, राजगढ़ शाजापुर, विदिशा, दतिया, अशोकनगर, बड़वानी, भोपाल, होशंगाबाद, बुरहानपुर, छिन्दवाड़ा, डिण्डोरी, मण्डला, सागर, धार, सतना, पन्ना, बालाघाट, श्योपुर, छतरपुर, रायसेन झाबुआ, हरदा और मंदसौर शामिल हैं।

जनसम्पर्क अधिकारी सुनीता दुबे ने सोमवार शाम को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में अब तक 3 हजार 777 कौवों और जंगली पक्षियों में वायरस पाया गया है। ये सभी प्रभावित पक्षी 32 जिलों में पाये गये थे, जो बर्ड फ्लू की जद में आए हैं। 

उन्होंने बताया कि झाबुआ, हरदा और मंदसौर जिले के प्रभावी क्षेत्रों में मुर्गियों की कलिंग और रोग नियंत्रण की कार्यवाही पूरी हो चुकी है। झाबुआ जिले में 926 पक्षियों, हरदा में 3044 पक्षियों, 260 अण्डों और 634 किलोग्राम आहार सामग्री का डिस्पोजल किया गया है। मंदसौर जिले में 10 पक्षियों की कलिंग की गई है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों से 440 सेम्पल राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग अनुसंधान प्रयोगशाला, भोपाल को जाँच के लिये भेजे जा चुके हैं। प्रभावित जिलों सहित पूरे प्रदेश में बर्ड फ्लू रोग नियंत्रण के लिये हरसंभव सतर्कता और सावधानी बरती जा रही है।

यह खबर भी पढ़े: देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ग्राम पंचायत चुनाव में जनता ने भाजपा पर विश्वास जताया

From around the web