loading...
1 अप्रैल से बदल जाएंगे इनकम टैक्स से जुड़े नियम, रिटर्न के लिए होगा सहज फॉर्म योगी आदित्यनाथ ने कहा- सूर्य नमस्कार- नमाज दोनों एक जैसे है, लेकिन... दक्षिणी बगदाद में आत्मघाती ट्रक हमले में 15 लोगों की मौत, 45 लोग घायल : इराकी अधिकारी जानिए, कुछ इस तरह हुई थी रंगीले राजस्थान की स्थापना... भारत-पाक सीरीज को लेकर गृह मंत्रालय ने किया इंकार चैत्र नवरात्र: तीसरे दिन देवी चंद्रघंटा की ऐसे करें पूजा, आराधना से बढ़ेगा पराक्रम ये रियाल लाइफ भाई-बहन पर्दे पर भी नजर आंएगे बहन भाई के रोल में लीबिया के टोब्रूक शहर में लड़ाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त, चार की मौत BJP को टक्कर देने के लिए राष्ट्रीय कांग्रेस स्वयंसेवक संघ बनाएंगे: असलम शेर खान गणगौर उत्सव: गणगौर माता खोल किवाड़ी बहार खड़ी तेरी पूजन हाली.. ब्राजील के राष्ट्रपति टेमर करेंगे अमेरिका का दौरा, द्विपक्षीय व्यापार और निवेश पर करेंगे चर्चा Video: अब इस फिल्म को पाकिस्तान ने रिलीज़ करने से किया इनकार! Sanjeevni Today: Top Stories of 9am GST को लोकसभा की मंजूरी, देश के टैक्स सिस्टम में आएंगे ये 10 बड़े बदलाव Video: देखें साउथ की फिल्म एक्ट्रेस, सीरत कपूर का TOPLESS फोटोशूट! गणगौर माता की सवारी के दौरान इस प्रकार से रहेगी यातायात की व्यवस्था जानिए, इतिहास के पन्नों में 30 मार्च का दिन क्यों है खास PAK क्रिकेटरों ने PCB से कहा- भारत से न करें द्विपक्षीय श्रृंखला की उम्मीद सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत ने नेपाली समकक्ष राजेंद्र छेत्री को सात घोड़े किए भेंट महोबा रेल हादसा: महाकौशल एक्सप्रेस के 8 डिब्बे पटरी से उतरे,10 यात्री हुए घायल
अपने ही बाप से ड़र रहे अखिलेश यादव, जानिए क्यों ?
sanjeevnitoday.com | Thursday, January 12, 2017 | 03:52:16 AM
1 of 1

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चीफ मिनिस्टर अखिलेश यादव को इस बात का डर सता रहा है कि पार्टी तोड़ने की साजिश करने वालों के बहकावे में आकर अगर उनके पिता मुलायम सिंह यादव यूटर्न मार लेते हैं तो विधानसभा की उफनती चुनावी धारा में उनकी नैया बुरी तरह डगमगा सकती है। इसलिए अखिलेश मार्च तक के लिए एसपी के नेशनल प्रेसिडेंट की पोस्ट मुलायम सिंह यादव को नहीं देने पर अड़े हुए हैं। ईटी को यह बात चीफ मिनिस्टर के एक करीबी सूत्र ने बताई। अखिलेश के एक करीबी सूत्र ने पहचान जाहिर नहीं करने की शर्त पर ईटी को बताया, 'अखिलेश को अपने पिता पर विश्वास हो या न हो, अमर सिंह जैसे साजिशकर्ताओं पर आगे भी नुकसान पहुंचाने की हरकत करने का पूरा विश्वास है।' उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह के नेशनल प्रेसिडेंट बनने पर मुलायम सिंह से कुछ भी लिखवा लेने की साजिशकर्ताओं में क्षमता है। अखिलेश यह पोस्ट न छोड़कर और किसी भी झांसे में न आकर यह तय करना चाहते हैं कि कैंडिडेट को फॉर्म ए और बी के जरिए पार्टी का निशान अलॉट करने का अधिकार उनके पास रहे।

अधिकार उनसे वापस लेने का ऑर्डर जारी
सूत्र ने कहा, 'तब क्या होगा, अगर अखिलेश मुलायम के ऑफर पर राजी हो जाते हैं और नैशनल प्रेजिडेंट पोस्ट छोड़ देते हैं और कल को मुलायम साजिशकर्ताओं के बहकावे में आकर कैंडिडेट तय करने का अधिकार उनसे वापस लेने का ऑर्डर जारी कर देते हैं। हम ऐसा होने नहीं दे सकते। अखिलेश यह लिखित में देने को तैयार हैं कि वह चुनाव के बाद पार्टी प्रेजिडेंट की पोस्ट छोड़ देंगे।' पार्टी में चल रही खींचतान से बेफिक्र अखिलेश को इस बात का पूरा भरोसा है कि अगर चुनाव आयोग उनकी पार्टी का निशान साइकिल फ्रीज कर देता है तो उनका चेहरा उससे बड़ा निशान होगा। माना जा रहा है कि यूपी के सीएम अखिलेश इसी हफ्ते कांग्रेस पार्टी, अजित सिंह के आरएलडी, आरजेडी और जेडीयू के साथ महागठबंधन कर सकते हैं और सोमवार से चुनाव प्रचार का अभियान शुरू कर सकते हैं। दूसरी तरफ मुलायम सिंह यादव ने पार्टी पर अपनी पकड़ में आ रही कमजोरी को भांपते हुए बुधवार को पार्टी कार्यकर्ताओं के एक समूह के सामने इमोशनल कार्ड खेला। मुलायम ने कहा कि उन्होंने अखिलेश के लिए सब कुछ त्याग दिया, यहां तक कि उनको राज्य का अगला सीएम नामित कर दिया। 

भावनाओं में बहते मुलायम...
जब अखिलेश दो साल के थे, तब वह पहली बार जेल गए थे। मुलायम ने कहा कि उन्होंने पार्टी खड़ी की और उसको मजबूत बनाया। मुलायम ने बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह की तरफ इशारा करते हुए रामगोपाल यादव पर एक विपक्षी दल के प्रेसिडेंट से तीन बार मुलाकात करने और उनके सामने अपने बेटे-बहू को एक सीबीआई केस में बचाने के लिए गिड़गिड़ाने को लेकर हमला बोला। उन्होंने रामगोपाल पर चुनाव आयोग से मोटरसाइकिल का निशान और पार्टी का नया नाम अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी मांगने का आरोप लगाते हुए कहा कि वे पार्टी तोड़ने की साजिश कर रहे हैं जिसको वह कामयाब होने नहीं देंगे। मुलायम के करीबी एमएलए ने ईटी को बताया, 'अखिलेश के कुछ करीबी उनको फुला रहे हैं कि वह मुलायम के बिना चुनाव जीत सकते हैं। अखिलेश को यह नहीं भूलना चाहिए कि कोर यादव वोटर मुलायम की इज्जत करता है और पार्टी टूटने पर उनको ही वोट देगा, जिससे बीजेपी को फायदा हो जाएगा।'

यह भी पढ़े: वेश्यावृति के धंधे की ये सच्चाई जान हैरान रह जायेंगे आप

यह भी पढ़े: 7 साल के इस बच्चे के मुंह से डॉक्टरों ने निकाले 80 दांत!

यह भी पढ़े: क्राइम ! प्रेमी नौकर के साथ बेड पर थी बहु तभी आ गयी सास और फिर...प्राइवेट पार्ट

यह भी पढ़े: मां के लिए ठुकराई गिफ्ट में मिली BMW कार...जानें क्यों?



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.