Farmers Protest: किसानों ने कहा- सभी निर्दलीय विधायक सरकार से समर्थन वापस लें, नहीं तो आपकी भी एंट्री बंद

 


चंडीगढ़,। केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में किसानों की पांचवें दिन मंगलवार को भी सिंघु व टीकरी बार्डर पर मोर्चेबंदी जारी रही। सरकार की ओर से बातचीत का न्यौता मिलने पर 30 किसान संगठनों के नेता दिल्ली के विज्ञान भवन जरूर पहुंचे, लेकिन सिंघु व टीकरी बार्डर पर किसानों का जोश कम नहीं हुआ बल्कि संख्या बल में भी इजाफा हुआ। किसानों के समर्थन व कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा में अनाज मंडियां बंद रही और आढ़ती एसोसिएशन ने सरकार से कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की। 

मंगलवार को पांचवें दिन भी किसानों धरना निरंतर जारी रही। केंद्र सरकार के साथ होने वाली बैठक में हिस्सा लेने से पहले किसान संगठनों ने लंबी मंत्रणा की। किसान संगठन पूरी तैयारी के साथ बातचीत के लिए रवाना हुए। किसानों के समर्थन में दादरी से निर्दलीय विधायक एवं पशुधन विकास बोर्ड के चेयरमैन सोमवीर सांगवान ने सरकार से समर्थन वापस लेने का ऐलान किया तो कृषि कानूनों के विरोध में गृह मंत्री अनिल विज के बाद केंद्रीय जल शक्ति राज्यमंत्री रतन लाल कटारिया तथा अंबाला शहर विधायक असीम गोयल को किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा। अंबाला शहर में केंद्रीय मंत्री व विधायक को किसानों ने काले झंडे दिखाकर विरोध जताया। 

इसके साथ ही जींद में 40 खाप पंचायतों की महापंचायत हुई, जिसमें सभी निर्दलीय विधायकों से भाजपा-जजपा सरकार से समर्थन वापस लेने की अपील की गई। खाप पंचायतों ने स्पष्ट किया कि जिस भी निर्दलीय विधायक ने उनकी अपील को अनसुना किया, उनकी एंट्री बंद कर दी जाएंगी। किसानों की मदद के लिए खाप पंचायत हमेशा तैयार हैं। 

धरने से वापस लौट रहे किसान की मौत 
कुरुक्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्ग पर धरने में हिस्सा लेकर वापस लौट रहे पंजाब के लुधियाना के गांव झमट थाना पायल 32 वर्षीय किसान बलजिंद्र सिंह की मौत हो गई है, जबकि उसका साथी गुरमीत सिंह घायल हो गया। लुधियाना के गांव झमट थाना पायल निवासी गुरमीत सिंह ने बताया कि वह अपने दोस्त बलजिंद्र व दो अन्य के साथ शनिवार को दिल्ली में किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए गए थे। तीन दिन तक धरने में रहने के बाद मंगलवार को वह बलजिंद्र के साथ वापस गांव के लिए चला था। 

दिल्ली जाने को लेकर पुलिस ने जारी की एडवाइजरी 
दिल्ली की सीमा में सिंघु व टीकरी बार्डर पर कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसानों के धरने को देखते हुए हरियाणा पुलिस ने ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की।  पुलिस एडवाइजरी के मुताबिक यात्री राष्ट्रीय राजमार्ग-44 (अंबाला-दिल्ली) पर स्थित सिंघु बॉर्डर से की बजाय पानीपत, रोहतक, झज्जर, गुरुग्राम व दिल्ली मार्ग से जाएं। हिसार की ओर से दिल्ली जाने वाले को रोहतक-झज्जर-गुरुग्राम से होते हुए दिल्ली जा सकते हैं।

यह खबर भी पढ़े: सरकार और किसानों की बातचीत रही बेनतीजा, किसानों ने समिति बनाने के प्रस्ताव को ठुकराया

From around the web