मौसम बिगड़ गया है, अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दें शहरवासी

 


उज्जैन। कोरोना वायरस के उपचार के लिए जिले के नोडल अधिकारी बनाए गए डॉ.एच पी सोनानिया ने शहरवासियों को आगाह किया है कि मौसम करवट ले रहा है। ठण्डी हवा चल रही है। मावठा आगे भी गिरेगा। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए अपने स्वास्थ्य के प्रति चिंता करें।

सर्दी-खांसी-बुखार होने पर तुरंत फीवर क्लिनिक पहुंचे, ताकि वहां आपका उपचार हो सके और लक्षण को देखते हुए आपका कोरोना टेस्ट करवाया जा सके। सतर्कता न बरतने पर संभव है कि आप आपके परिवार के लिए ही मुसिबत बन जाए तथा सभी को संक्रमित कर दें।

जिले का चिकित्सा अमला अलर्ट पर
खराब मौसम को देखते हुए जिले का चिकित्सा अमला अलर्ट पर आ गया  है। सीएमएचओ डॉ.महावीर खण्डेलवाल के अनुसार प्रदेश सरकार के निर्देश हैं कि प्रतिदिन कम से कम 750 जांच हो, लेकिन जिले में इस समय प्रतिदिन 1000 जांच हो रही है। उन्होंने बताया कि जो पॉजीटिव मरीज आ रहे हैं, उनके परिवार/सम्पर्क में आए लोगों की जांच का दायरा भी बढ़ा दिया गया है। ऐसा होने से पॉजीटिव मरीजों की संख्या बढ़ रही है। यह अच्छी बात है कि स्वस्थ होने का प्रतिशत भी बढ़ता जा रहा है।

डॉ.खण्डेलवाल ने अपील की कि मावठे को देखते हुए लोग ज्यादा से ज्यादा समय घरों में गुजारे। खासकर वृद्ध, बच्चे और जिन्हे सर्दी-खांसी-बुखार है, वे लोग घरों में ही रहें, ताकि संक्रमण से बच सकें। उन्होंने सुझाव दिया कि जिन्हे सर्दी-जुकाम-बुखार है वे अपने घरों में परिवार के बीच मॉस्क लगाकर रखें और परिजन उनसे सामाजिक दूरी बनाकर रखें। संभव हो तो आयसोलेट करें।

शा.माधवनगर की आइसीयू फुल
शा.माधवनगर में मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस समय आयसीयू फुल हो चुकी है। हॉस्पिटल की कुल क्षमता 120 बेड की है, जिसमें आइसीयू के बेड भी शामिल है। आज की स्थिति में हॉस्पिटल में 90 मरीज भर्ती हैं। इनमें पॉजीटिव्ह एक्टिव मरीजों के अलावा वे मरीज शामिल है जिन्हे लक्षण सारे कोरोना वायरस के हैं, लेकिन उनकी रिपोर्ट निगेटिव्ह आने के बाद अन्य गंभीर बिमारियां होने के कारण उपचाररत है और ऑक्सीजन पर चल रहे हैं।

यह खबर भी पढ़े: देश के 3 प्रमुख वैक्सीन केन्द्रों का प्रधानमंत्री ने किया दौरा, कोरोना वैक्सीन के निर्माण के प्रगति के बारे में ली जानकारी

From around the web