टीकाकरण के बाद जोश में हैं हैल्थ वर्कर, कहा- बिना संदेह के लगवाएं कोरोना वैक्सीन

 


भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में शनिवार को कोरोना वैक्सीन का महाअभियान राजधानी भोपाल स्थित गांधी मेडीकल कालेज से प्रारंभ हुआ। पहला टीका वार्ड ब्वॉय संजय यादव को लगा। मुख्यमंत्री चौहान ने यादव सहित वैक्सीनेशन में शामिल भोपाल के शासकीय और निजी चिकित्सकों सहित स्वास्थ्य कर्मियों को धन्यवाद दिया। 

वार्ड बाय यादव ने बनाया विक्ट्री साइन
राज्य स्तरीय वैक्सीनेशन शुभारंभ अवसर पर मुख्यमंत्री की उपस्थिति में टीका लगने से उत्साहित वार्ड बाय संजय यादव ने विक्ट्री साइन बनाकर कोरोना से निर्णायक जंग जीतने के संदेश दिया। यादव ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री चौहान को धन्यवाद भी दिया। उन्होंने कहा कि अब वे सुरक्षित होने का अहसास कर रहे हैं लेकिन पूर्ण रूप से तब सुरक्षित होऊंगा जब 28 दिन बाद दूसरा डोज लगेगा और उसके 14 दिन बाद जब एंटी बाडी विकसित होगी। 

डॉ. गोयनका ने कहा- दुनिया फिर जोश में होगी
चिरायु मडीकल कालेज के संचालक डॉ. अजय गोयनका को भी आज कोरोना से जंग के लिए वैक्सीन लगी। उन्होंने कहा कि दावे से कहता हूँ कि यह वैक्सीन दुनिया में सर्वाधिक विश्वसनीय और असरकारी है। उन्होंने कहा कि इन स्वदेशी वैक्सीन से अब देश में उत्साह के नए रंग होंगे और देश कोरोना से जंग जीतकर फिर से पटरी पर दौड़ेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का आभार भी व्यक्त किया।

बिल्कुल सुरक्षित है वैक्सीन – डॉ. पाल
भोपाल के हमीदिया अस्पताल के विभागाध्यक्ष कम्युनिटी एवं फैमिली मेडिसन विभाग के डॉ. डी.के.पॉल को हमीदिया अस्पताल में शनिवार को कोरोना की वैक्सीन लगाई गई। वैक्सीनेशन के बाद डॉ. पॉल ने अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि मुझे अभी आधा घंटे पहले वैक्सीन लगाई गई है। मैं बहुत बेहतर फील कर रहा हूँ  किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं है। वैसे 60 वर्ष के ऊपर की उम्र का हूँ। वैक्सीन को लेकर कहना चाहूंगा कि इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं। मैने इसको लगवाया एवं मुझे किसी भी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट जैसे चक्कर आदि की कोई परेशानी नहीं हुई है, मैं बिल्कुल नार्मल फील कर रहा हूँ। मैं सब लोगों को यही संदेश देना चाहूँगा कि जब आपका वैक्सीनेशन के लिए नम्बर आए तो बिना किसी संदेह के वैक्सीन लगवाएं और इससे शरीर के अंदर प्रतिरोधक क्षमता पैदा होगी और यह लोगों का कोरोना से बचाव करेगा।

मैसेज आया और मैं वैक्सीनेशन के लिए आ गया - डॉ. शर्मा
नर्मदा अस्पताल एवं ट्रामा सेंटर के संचालक डॉ. राजेश शर्मा ने बताया कि कोरोना की वजह से लाकडाउन, आर्थिक स्थिति, व्यवसाय  किसी भी तरीके से देखा जाए तो वर्ष 2020 में हमारा अनुभव बहुत ही खराब रहा है। इसलिए वैज्ञानिकों ने दिन-रात एक कर यह वैक्सीन तैयार की है और अभी एक साल भी नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि शुक्रवार शाम को उन्हें मैसेज आया था कि उन्हें 16 जनवरी को वैक्सीन लगना है तो वह यहां आए, उसके बाद उनकी आईडी चेक हुई और उसके बाद उन्हें वैक्सीन लगाई गई, इसके बाद ऑब्जरवेशन रूम में बैठे और अब भी वह एकदम बेहतर फील कर रहे हैं।

पूरी तरह सुरक्षित है वैक्सीन – सीएमएचओ डॉ. तिवारी
सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी ने स्वास्थ्य अपर सचिव मोहम्मद सुलेमान की उपस्थिति में कोरोना की वैक्सीन लगवाई। वैक्‍सीनेशन की पूरी प्रक्रिया के बाद तिवारी ने कहा कि मुझे गर्व है कि इस महाअभियान के प्रथम दिन मुख्यमंत्री जी की उपस्थिति में मुझे वैक्सीनेशन किया गया है। उन्होंने बताया कि अभी मैं बेहतर स्थिति में हूँ और मैं शहर में बनाए गए 12 वैक्सीन सेंटरों का निरीक्षण करूंगा। उन्होंने कहा कि मेरा शहरवासियों को यही संदेश है कि यह वैक्सीनेशन पूर्णत: सुरक्षित है। इसका कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ेगा। इस वैक्सीन से लोगों को डरने की आवश्यकता नहीं है।

यह खबर भी पढ़े: बातचीत के लिए बार-बार तारीख देकर किसान आंदोलन को कमजोर करने की कोशिश कर रही केन्द्र सरकार : गर्ग

From around the web