नागपुर और इलाहाबाद में दिखेगी मध्यप्रदेश के शिल्प की झलक

 


भोपाल। मध्यप्रदेश के शिल्प की झलक अब महाराष्ट्र के नागपुर और उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद में भी दिखेगी। इसके लिये हस्तशिल्प विकास निगम शीघ्र इन दोनों शहरों में 'मृगनयनी' शोरूम प्रारंभ करेगा। यह निर्णय मंगलवार को कुटीर, खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री गोपाल भार्गव की अध्यक्षता में संत रविदास हस्तशिल्प विकास निगम की साधारण सभा की बैठक में लिया गया। मंत्री भार्गव ने हस्तशिल्प उत्पादों के व्यापक प्रचार-प्रसार की कार्य योजना बनाने के निर्देश भी दिए हैं।

मंत्री भार्गव ने कहा कि प्रदेश के शिल्पियों को बाजार मुहैया कराने में हस्तशिल्प विकास निगम की 'मृगनयनी शोरूम' बेहतर प्लेटफार्म है। उन्होंने कहा कि देश के सभी बड़े शहरों में मृगनयनी शोरूम की कार्य योजना तैयार की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि शिल्पियों को प्रशिक्षित कर बाजार की आधुनिक माँग के अनुरूप ही उत्पाद तैयार करने की जरूरत है।

मंत्री भार्गव ने कहा कि हस्तशिल्प विकास निगम देश के बड़े धार्मिक मेलों में भी 'मृगनयनी' के आऊटलेट लगायेगी। इसी तरह प्रदेश के अन्य जिलों में भी हैंडलूम-एक्सपो आयोजित किए जाए। हस्तशिल्प विकास निगम प्रबंध संचालक राजीव शर्मा ने साधारण सभा में वर्ष 2019-20 के आय-व्यय का लेखा प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि हस्तशिल्प विकास निगम के अपने सभी व्ययों की पूर्ति करने के बाद साढ़े 6 लाख रूपये का लाभांश कमाया है। इसका वितरण सहभागियों को किया जाएगा।

यह खबर भी पढ़े: कृषि कानूनों को रद्द करने को लेकर किसानों ने भूना में ट्रैक्टर यात्रा निकालकर दिखाई ताकत

From around the web