मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तृणमूल कांग्रेस पर गिरी गाज, पूर्व सांसद केडी सिंह गिरफ्तार

 


कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सदस्य एवं अल्केमिस्ट चिटफंड समूह के मालिक केडी सिंह को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। ईडी सूत्रों ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है। बताया गया है कि आज ही उन्हें कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। 

बाजार नियामक संस्था सेबी की ओर से मिली शिकायत के बाद अल्केमिस्ट चिटफंड कंपनी के खिलाफ केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने प्राथमिकी दर्ज की थी। उसके बाद ईडी ने धन शोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) मामले की जांच शुरू की थी। आरोप है कि चिटफंड कंपनी ने पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड एवं ओडिशा राज्य में अपने ब्रांच खोले थे और अधिक रिटर्न का झूठा आश्वासन देकर हजारों लोगों से निवेश के नाम पर 1900 करोड़ रुपये की उगाही की थी।

केडी सिंह पर यह भी आरोप लगा कि चिटफंड से वसूली गई धनराशि के जरिए उन्होंने पश्चिम बंगाल में नारद स्टिंग ऑपरेशन करवाया था। इसमें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी के कई बड़े नेता, मंत्री और पुलिस अधिकारी पांच लाख घूस के एवज में एक फर्जी कंपनी के निदेशक के अवैध कारोबार को बंगाल में विस्तार का आश्वासन देते हुए कैमरे में कैद हुए थे। इस स्टिंग की भी सीबीआई जांच चल रही है। केडी सिंह ने ऐसा इसलिए किया था ताकि तृणमूल कांग्रेस पर उनका दबदबा कायम रहे। 

हालांकि जब सीबीआई ने इस मामले में जांच शुरू की तब सभी साजिशों का खुलासा हुआ। कोलकाता पुलिस ने भी उनके खिलाफ पांच अलग-अलग थानों में मामले दर्ज किए हैं जिसमें जांच चल रही है। इसके पहले वर्ष 2019 के जनवरी के आखिरी सप्ताह में केडी सिंह की 238 करोड़ की संपत्ति ईडी ने कुर्क की थी, जिसमें कई बैंक खाते और पंजाब, महाराष्ट्र एवं दिल्ली आदि में उनकी संपत्तियां शामिल हैं।

यह खबर भी पढ़े: Live Updates/दिल्ली की सड़कों पर 10 साल पुराने ट्रैक्टर दौड़ाएंगे किसान, राकेश टिकैत ने किया ये बड़ा ऐलान

 

From around the web