राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का सांसद संजय सेठ ने किया शुभारंभ

 


रांची। रांची में सोमवार से राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह की शुरुआत हो गयी। सांसद संजय सेठ, उपायुक्त छवि रंजन, एडीएम लॉ एंड ऑर्डर (विधि-व्यवस्था) लोकेश मिश्रा, जिला परिवहन पदाधिकारी प्रवीण प्रकाश ने संयुक्त रुप से इसकी शुरुआत की। मोराबादी मैदान में उपस्थित लोगों को सुरक्षित वाहन चलाने के लिए शपथ दिलाने के बाद बाइक रैली और जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का शुभारंभ किया गया। इस दौरान सांसद ने जिले वासियों से अपील करते हुए कहा कि जिला प्रशासन की ओर से चलाए जा रहे इस अभियान में लोग सहयोग करें और सड़क सुरक्षा से संबंधित नियमों का पालन अवश्य करें, ताकि सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाई जा सके। 

उन्होंने बताया कि पूरे एक माह तक राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का आयोजन 18 जनवरी से 17 फरवरी तक किया जाएगा। जागरूकता रैली के आयोजन के माध्यम से शहर के मुख्य चौक -चैराहों में सड़क सुरक्षा से संबंधित प्रचार-प्रसार कर लोगों को यातायात सुरक्षा और नियमों के पालन के प्रति जागरुक किया जायेगा। जिला परिवहन पदाधिकारी ने कहा कि सड़क दुर्घटना के वजह से होने वाली क्षति एक ऐसी क्षति है जिसकी पूर्ति करना संभव नहीं है, इसलिए आवश्यक है कि हम सभी सावधान होकर वाहन चलाएं और दूसरे को भी इसके लिए प्रेरित करें, ताकि सड़क सुरक्षा संबंधित नियमों का पालन किया जा सके, जिससे सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाई जा सके। लोगों में यातायात नियमों के प्रति जागरूकता के लिए जिले में कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। विद्यालयों में निबंध, स्लोगन, पेंटिंग प्रतियोगिता, नुक्कड़ नाटक, हस्ताक्षर अभियान तथा अन्य कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।

लोगों को रोड सेफ्टी की दिलायी गयी शपथ
राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के शुभ अवसर पर लोगों को शपथ दिलायी गयी कि - हम सब शपथ लेते हैं कि हम सब सड़क पर वाहन चलाने के समय सभी सड़क सुरक्षा संबंधी बातों का ध्यान रखेंगे, हम सब सड़क एवं यातायात संबंधी नियमों का पालन करेंगे, हम अपने और सड़क पर चलने वाले अपने सभी साथियों की सुरक्षा का ध्यान रखेंगे। हम समर्पित भाव से सड़क सुरक्षा पर नियमित रूप से कार्य करेंगे तथा दूसरों को भी शिक्षित एवं जागृत करने के लिए प्रेरित करेंगे। हम सड़क पर दुर्घटना पीड़ित व्यक्ति की मदद करने में हमेशा अग्रसर रहते हुए एक स्वच्छ-स्वस्थ-सुरक्षित सड़क संस्कृति विकसित करने का प्रयास करेंगे। 

यह खबर भी पढ़े: उत्तराखंड में सोमवार को 1961 हेल्थ केयर वर्कर्स को लगे टीके

From around the web