22 की शाम से 25 जनवरी की शाम तक जम्मू-कश्मीर में बारिश तथा बर्फबारी की संभावना

 


जम्मू। कश्मीर घाटी में शीत लहर के भीषण प्रकोप के साथ ही श्रीनगर में मंगलवार को न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 7.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मेट विभाग के अनुसार, एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ के 22 जनवरी की शाम से 25 जनवरी की शाम तक जम्मू-कश्मीर को प्रभावित करने की सबसे अधिक संभावना है। इसके कारण कश्मीर में व्यापक मध्यम दर्जे की बर्फबारी, जम्मू के पहाड़ी क्षेत्रों और  मैदानी इलाकों में 23-24 जनवरी को मुख्य गतिविधि होने के साथ बारिश होने की संभावना है।

इसके साथ मौसम संबंधी प्रणाली के चलते जमीनी और हवाई यातायात को प्रभावित करने की संभावना है।

मौसम विभाग के एक अधिकारी के अनुसार पिछली रात को शून्य से 6.4 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले जम्मू और कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी में पारा छह डिग्री गिर गया।

शून्य से नीचे 8.4 डिग्री सेल्सियस पर, श्रीनगर में पिछले सप्ताह सबसे ठंडी रात देखी गई और यह 25 से अधिक वर्षों में सबसे सर्द रात थी। 1991 में, श्रीनगर में शून्य से नीचे 11.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जबकि सबसे कम तापमान 31 जनवरी 1893 को दर्ज किया गया था जब पारा शून्य से नीचे 14.4 डिग्री सेल्सियस तक चला गया था।

कश्मीर घाटी में डल झील और यहां के अन्य जल निकाय अत्यधिक शीत लहर के कारण जमे हुए हैं। विश्व प्रसिद्ध स्वास्थ्य रिसॉर्ट पहलगाम में शून्य से नीचे 8.4 डिग्री सेल्सियस न्यतनतम तापमान रहने के साथ ही घाटी के अन्य हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से काफी नीचे जारी रहा।

जम्मू-कश्मीर के प्रवेशद्वार क़ाज़ीगुंड में शून्य से नीचे 8.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और यह घाटी का सबसे ठंडा स्थान रहा। कोकरनाग में शून्य से नीचे 7.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कुपवाड़ा में पारा शून्य से नीचे 5.7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया।विश्व प्रसिद्ध स्कीइंग रिसॉर्ट गुलमर्ग में शून्य से नीचे 6.0 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। 

कश्मीर मौजूदा समय में चिल्लई-कलां ’के मध्य में है, 40 दिन की कठोर सर्दियों की अवधि जो 21 दिसंबर को शुरू हुई और 31 जनवरी को समाप्त होगी।

यह खबर भी पढ़े: Youtube में आएगा नया फीचर, यूजर्स वीडियो से सीधा खरीद सकेंगे प्रोडक्ट्स

यह खबर भी पढ़े: राजस्थान: एक महिला हुई 3 दरिंदो का शिकार, तीनो ने मिलकर किया सामूहिक दुष्कर्म, पीडि़ता की हालत...

From around the web