विधानसभा सत्र पर जल्द फैसला लेगी सरकार : मुख्यमंत्री

 


शिमला। हिमाचल विधान सभा के शीत कालीन सत्र को लेकर सरकार जल्द फैसला लेगी। राज्यपाल बंडारू  दत्तात्रेय द्वारा सत्र आहूत करने की अधिसूचना जारी करने के बाद जयराम सरकार शीत कालीन सत्र के आयोजन को तैयार है। अलबत्ता सत्र धर्मशाला में होगा अथवा शिमला में इसे लेकर असमंजस है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शनिवार को पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में कहा कि सत्र को लेकर सरकार जल्द फैसला लेगी।

पत्रकारों के सवालों के जवाब में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि कई विधायक सत्र के आयोजन के पक्ष में हैं। मगर कोरोना संक्रमण के फैलाव के मद्देनजर कई सदस्य इसके पक्ष में नहीं हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने व्यक्तिगत तौर पर उनसे सत्र के आयोजन को लेकर बात की। उन्होंने सत्र को शिमला में आयोजित करने का सुझाव दिया। लिहाजा सरकार जल्द सत्र कहा होगा? इसे लेकर फैसला लेगी।

उधर प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रदेश विधान सभा सचिवालय भी सत्र के आयोजन को लेकर तैयारियों में जुट गया है। विधायक भी सत्र को लेकर तैयारियां कर रहे हैं। विधायकों की तरफ से अब तक करीब 400 प्रश्नों के नोटिस विधान सभा सचिवालय को मिले हैं। सामान्य प्रशासन विभाग की सत्र को लेकर कमर कसने लगा है। जाहिर है कि विधान सभा का शीत कालीन सत्र तो होगा, मगर कहां इसे लेकर फैसला जल्द होगा।

बीते रोज विधान सभा सत्र को लेकर आयोजित सर्वदलीय बैठक के बाद पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में संसदीय कार्यमंत्री सुरेश भारद्वाज ने भी कहा था कि कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह सत्र को शिमला में आयोजित करने के पक्ष में हैं। साथ ही विधायक सुखविंद्र सिंह सुक्खू सत्र स्थगित करने के पक्ष धर बताए गए हैं। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अज्निहोत्री ने कहा था कि सत्र को लेकर अधिसूचना जारी हो गई है। लिहाजा फैसला सरकार को लेना है कि सत्र शिमला में हो अथवा धर्मशाला में। 

यह खबर भी पढ़े: देश के 3 प्रमुख वैक्सीन केन्द्रों का प्रधानमंत्री ने किया दौरा, कोरोना वैक्सीन के निर्माण के प्रगति के बारे में ली जानकारी

From around the web