Live Updates/ किसानों का शक्ति प्रदर्शन, फतेहाबाद में लघु सचिवालय के सामने उमड़े 3000 किसान

 


नई दिल्ली। तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का आज 52वां दिन है। किसानों के इस शांत आंदोलन की ‘ताकत’ भी लगातार बढ़ती जा रही है। ठंड की परवाह किए बिना हरियाणा, पंजाब, यूपी, राजस्थान समेत अन्य राज्यों से किसानों के जत्थे रसद के साथ लगातार धरनास्थल पर पहुंच रहे हैं। इस दौरान किसानों का शक्ति प्रदर्शन जारी है। 

इस बीच कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसान 26 जनवरी को भाजपा नेताओं से ध्वजारोहण करवाए जाने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की शनिवार को रिहर्सल की। इसके लिए हरियाणा में फतेहाबाद के अलग अलग इलाकों के किसान ट्रैक्टर लेकर लघु सचिवालय परिसर के सामने पहुंचे। यहां पर रिहर्सल के रूप में शक्ति प्रदर्शन किया गया। 

Live Updates/ किसानों का शक्ति प्रदर्शन, फतेहाबाद में लघु सचिवालय के सामने उमड़े 3000 किसान

अखिल भारतीय किसान महासभा राष्ट्रीय महासचिव रूलदू सिंह कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के तौर पर पहुंचे। उनके अलावा विभिन्न संगठनों के नेता भी कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान लघु सचिवालय परिसर के सामने तीन हजार से ज्यादा किसान ट्रैक्टर लेकर आए।

गौरतलब है कि नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान 28 नवंबर से यूपी गेट पर डेरा डाले हुए हैं और 3 दिसंबर से NH-9 के गाजियाबाद-दिल्ली कैरिजवे को भी बंद कर दिया है। उधर, सुप्रीम कोर्ट के कमेटी वाले फैसले पर भी किसान संगठन संतुष्ट नजर नहीं आ रहे हैं। आंदोलनरत किसानों की मांग तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने और एमएसपी पर कानून बनाए जाने की है। इसके मद्देनजर दिल्ली की सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सिंघु बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया। 

यह खबर भी पढ़े: पेट्रोलियम उत्पादों के संरक्षण को सभी स्तरों पर अपनाएं : राज्यपाल

 

From around the web