किसानों ने 26 जनवरी को होने वाली ट्रैक्टर मार्च को लेकर बनाया मास्टर प्लान

 


रोहतक। केन्द्र सरकार द्वारा तीन कृषि कानूनों को रद्द करने व एमएसपी पर कानून बनाने की मांग को लेकर किसानों ने प्रस्तावित 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च निकालने को लेकर मास्टर प्लान तैयार कर लिया है। किसानों का साफ कहा है कि इस बार गणतंत्र दिवस पर भाजपा-जजपा के किसी भी नेता को तिरंगा नहीं फहराने दिया जाएगा। साथ ही किसानों ने यह भी कहा कि अगर कोई प्रशासनिक अधिकारी व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी तिरंगा फहराएंगा तो वह उसका स्वागत करेंगे। बुधवार को कैनाल रेस्ट हाऊस में जिले के प्रशासनिक अधिकारियों व किसान संगठनों के नेताओं की अहम बैठक हुई। 

किसानों ने कहा कि जब तक सरकार इन तीन काले कानूनों को रद्द नहीं करती है, तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा और भाजपा-जजपा नेताओं का इसी तरह लोगों के विरोध का सामाना करना पड़ेगा। भारतीय किसान यूनियन अंबावता के प्रदेश अध्यक्ष अनिल नांदल उर्फ बल्लू प्रधान ने कहा कि इन तीन काले कृषि कानूनों को लेकर हर वर्ग में सरकार के खिलाफ रोष बढ़ता जा रहा है। बल्लू प्रधान ने कहा कि प्रशासन कैमला गांव जैसी भूल ना करें वरना इससे भी भारी विरोध का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर प्रशासनिक अधिकारी या कोई भी चतुर्थ श्रेणी का सरकारी कर्मचारी तिरंगा फहरायेगा तो उनका स्वागत किया जाएगा। साथ ही मकडोली टोल स्थित अनशन स्थल से गणतंत्र दिवस समारोह में हलवे के रूप में प्रसाद भी भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार टकराव की स्थिति न पैदा करे और तुरंत इन तीन काले कानूनों को रद्द कर दे। साथ ही हर हाल में 26 जनवरी को दिल्ली में भी ट्रैक्टर मार्च निकाला जाएगा। इसके लिए किसानों ने विशेष मास्टर प्लान भी तैयार किया है। बैठक में एसडीएम राकेश कुमार, तहसीलदार राजेश कुमार, बिडियो राजपाल सिंह, डीएसपी सज्जन कुमार व नरेश कादयान, राजकुमार उर्फ राजू, खिडवाली के पूर्व सरपंच बिजेन्द्र हुड्डा प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

यह खबर भी पढ़े: अभिनेत्री सारा अली खान की मालदीव वेकेशंस की तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से हो रही वायरल, देखें

From around the web