केंद्र सरकार को जीएसटी की अधिकतम टैक्स की दरें 5 व 12 प्रतिशत करे : बजरंग गर्ग

 


जींद। व्यापारी प्रतिनिधियों की एक आवश्यक बैठक गुरुवार को हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व हरियाणा कान्फैड़ के पूर्व चेयरमैन बजरंग गर्ग की अध्यक्षता में यहां हुई। इस बैठक में लगातार महंगाई व बेरोजगारी बढऩे, व्यापार व उद्योग ठप्प होने, टैक्सों में भारी भरकम बढ़ोतरी करने पर नाराजगी जताई गई। बैठक में व्यापार मंडल के प्रधान राजकुमार मित्तल व व्यापार मंडल युवा प्रधान हिमलेश जैन विशेष रूप से मौजूद थे। 

व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा जीएसटी के तहत आम उपयोग में आने वाली वस्तुएं पर अनाप-शनाप टैक्सों में बढ़ोतरी करके जनता की कमर तोडऩे का काम किया है। केंद्र सरकार ने जीएसटी लगाते समय व्यादा किया था कि एक देश एक टैक्स भारत देश में होगा मगर कपड़ा, चीनी, खाद्य, धूप अगरबत्ती, खेती में प्रयोग आने वाली दवाईयां आदि पर टैक्स नहीं था, उस पर 5 प्रतिशत जीएसटी लगा दिया। भारत देश आजाद होने के बाद पहली बार कपड़ा व चीनी पर टैक्स इस सरकार ने लगाया है। जिन वस्तुओं पर 5 प्रतिशत वेट कर था उन पर 18 व 28 प्रतिशत जीएसटी लगा दिया और पेट्रोल व डीजल पर जो भारी भरकम वेट कर हैं, उस पर टैक्स कम करके जीएसटी के दायरे में नहीं लाया गया जो देश व प्रदेश की जनता के साथ धोखा है। बजरंग गर्ग ने कहा कि आम उपयोग में आने वाली वस्तुओं पर भारी भरकम टैक्स लगाने से व पेट्रोल-डीजल पर अनाप-शनाप वेट कर बढ़ाने से देश व प्रदेश में बेतहाशा महंगाई बढ़ी है। सब्जी व फलों पर हरियाणा सरकार ने हाल ही में जो 2 प्रतिशत मार्किट फीस लगाई है, उसे तुरंत प्रभाव से हटाया जाए। इस मौके पर अमन जैन, विजय गर्ग, निरंजन गोयल, सुबाहू जैन, विजय जैन व अनिल जैन भी मौजूद थे। 

यह खबर भी पढ़े: कोरोना टीकाकरण अभियान में मददगार बनेगी जमीयत उलेमा-ए-हिंद

From around the web