संयुक्त किसान मोर्चा नेताओं की योजना के मुताबिक एकजुट होकर गरिमापूर्ण तरीके से निकालेंगे दिल्ली में ट्रैक्टर परेड

 


रोहतक। महम के निर्दलीय विधायक बलराज कुण्डू ने बुधवार को कहा कि भाजपा सरकार को अपने पूंजीपति मित्रों के नफे नुकसान की तो चिंता है लेकिन प्रजातन्त्र में वोट डालकर सरकारें चुनने वाले किसान-मजदूर एवं आम आदमी की दुख तकलीफें नजर नहीं आ रही। यह बात उन्होंने धरने पर किसानों को संबोधित करते हुए कही। 

उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन में रोजाना किसानों की शहादतों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है, लेकिन सरकार अभी तक इससे अनजान बनी हुई है। ऐसा जानबूझ कर किया जा रहा है ताकि किसानों को हतास व निराश किया जा सके और बातचीत को मीटिंग दर मीटिंग लम्बा खींचकर किसानों के हौंसले को तोड़ा जा सके, लेकिन, किसान सरकार के इन ओछे हथकंडों को बखूबी समझ चुके हैं और किसान आंदोलन को दबाने की सरकार की मंशा कभी पूरी नहीं होगी। साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार को पूंजीपतियों के इस जंजाल से बाहर निकलकर जनभावना की कद्र करते हुए किसानों से माफी मांगनी चाहिए और तुंरत इन तीन काले कानूनों को भी रद्द करना चाहिए। विधायक बलराज कुंड ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा नेताओं की योजना के मुताबिक 26 जनवरी को दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर एकजुटता के साथ किसान ट्रैक्टर परेड निकाली जाएगी। उन्होंने कहा कि किसानों पर अत्याचार अब और बर्दाश्त नहीं होगा। जनआंदोलन को देखते हुए केंद्र सरकार तीनों काले कानून वापस लेकर एमएसपी की गारंटी का नया कानून लेकर आये। जब तक मांगें नहीं मान ली जाती, किसान वापस अपने घर नहीं लौटेंगे। सरकार को राजहठ छोडक़र अन्नदाता के दु:ख-दर्द सुनकर समस्या का समाधान करना चाहिए।

यह खबर भी पढ़े: तांडव वेब सीरीज मामले में मुंबई में एफआईआर

From around the web