बर्थडे स्पेशल (24 जनवरी) : निर्देशक सुभाष घई ने बतौर अभिनेता की थी करियर की शुरुआत

 


नई दिल्ली। बॉलीवुड को कई हिट फिल्मे देने वाले  मशहूर निर्माता-निर्देशक सुभाष घई  किसी परिचय का मोहताज नही हैं। सुभाष घई का जन्म 24 जनवरी,1945 को हुआ था। सुभाष घई ने अपनी शुरूआती पढ़ाई दिल्ली से पूरी की। इसके बाद वह पुणे चले गए और वहां जाकर  उन्होंने फिल्म एंड टेलीविजन  इंस्टीयूट ऑफ  इंडिया में दाखिला लिया। सुभाष घई ने अपने करियर की शुरुआत बतौर सहायक अभिनेता  साल 1967 में आई फिल्म 'तकदीर' से की। इसके बाद सुभाष साल 1969 में राजेश खन्ना और शर्मीला टैगोर की फिल्म  'आराधना' में भी छोटी सी भूमिका में नजर आये। इसके बाद साल 1970 में आई फिल्म 'उमंग' और 'गुमराह'(1976 ) में सुभाष घई को मुख्य भूमिका के रूप में अभिनय करने का मौका मिला। लेकिन जल्द ही सुभाष को यह लगने लगा कि फिल्मों में अभिनय करना उनके बस की बात नहीं। 

इसके बाद उन्होंने तय किया कि वह फिल्म निर्देशन के क्षेत्र में अपनी किस्मत आजमायेंगे। साल 1976 में सुभाष घई ने बतौर निर्देशक अपनी पहली फिल्म 'कालीचरण' का निर्देशन किया। इस फिल्म में शत्रुघन सिन्हा और रीना रॉय मुख्य भूमिका में थे और यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट रही। इसके बाद घई फिल्म जगत में निर्देशक के तौर पर स्थापित हो गए। उन्होंने अपने पूरे करियर में कई हिट  फिल्मों का सफल निर्देशन किया जिसमें विश्वनाथ, गौतम गोविंदा, कर्ज, हीरो , मेरी जंग, कर्मा, राम लखन, सौदागर, खलनायक, परदेश, यादें आदि शामिल हैं। इस दौरान सफलता की उचाईयों को छूते हुए घई ने  अपनी प्रोडक्शन कम्पनी 'मुक्ता आर्ट्स' का निर्माण किया।

सुभाष घई ने फिल्मों में निर्देशन के बाद निर्माता के तौर पर भी कई हिट फिल्में दी जिसमें  ऐतराज, इक़बाल, चाइना टाउन, अपना सपना मनी मनी, गुड बॉय बैड बॉय, हीरो आदि शामिल हैं।

सुभाष घई ने साल 1970 में  रिहाना उर्फ मुक्ता से शादी की। उनकी दो बेटियां हैं- मेघना घई पूरी और मुस्कान घई है।

यह खबर भी पढ़े: चीन में सुअरों के अंदर फैले नए अफ्रीकन स्‍वाइन फीवर के स्‍ट्रेन के बारे में बड़ा खुलासा

यह खबर भी पढ़े: वाट्सऐप के गले की फांस बनी नई पॉलिसी, 82.2 फीसदी भारतीय छोड़ने को तैयार

From around the web