रंगदारी मांगने वाले चार अपराधी गिरफ्तार

 


चतरा। चतरा पुलिस ने कोयलांचल में आतंक का पर्याय बन चुके एक गिरोह के चार अपराधियों को हथियार व कारतूस के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस ने एक सूचना के आधार पर जिले के टंडवा थाना क्षेत्र के बाली गांव से सभी को दबोच लिया। रविवार को एसपी ऋषभ झा ने पत्रकारों को बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि चतरा के टंडवा व पिपरवार एवं लातेहार के बालूमाथ थाना क्षेत्र में संचालित कोल परियोजनाओं में कार्यरत कोयला खनन व प्रेषण कर रहे व्यवसायियों से पोस्टर तथा व्हाट्सएप के माध्यम से अपराधियों द्वारा लगातार रंगदारी की मांग की जा रही थी। 

उन्होंने बताया कि सूचना के आधार पर एसडीपीओ टंडवा विकास पांडेय के नेतृत्व में विशेष छापामारी टीम का गठन कर अभियान चलाने का निर्देश दिया गया था। एसडीपीओ व टंडवा थाना प्रभारी की संयुक्त टीम ने बाली गांव में छापा मारकर चार अपराधियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों के पास से तीन रिवाल्वर व 33 जिंदा कारतूस, दो मैगजीन, विभिन्न कंपनियों का 7 मोबाइल, एक यामाहा बाइक व लेवी का 11 हजार 150 रुपये नकद समेत विभिन्न नक्सली संगठनों व आपराधिक गिरोह का पर्चा बरामद किया गया है।  

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार चारों अपराधी कोयलांचल के विभिन्न कोल परियोजनाओं में प्रतिबंधित नक्सली संगठन टीएसपीसी, जेपीसी, पीएलएफआई नक्सलियों व जेल में बंद गैंगस्टर सुजीत सिन्हा तथा अमन साव गिरोह के इशारे पर दहशत फैलाकर लेवी वसूलने का काम करते थे। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों के द्वारा ही पिपरवार के पुरनाडीह व बालूमाथ थाना क्षेत्र के तेतरियाखांड तथा बुकरू साइडिंग पर हमला कर गोलीबारी करते हुए दहशत फैलाकर कोल वाहनों में आगजनी की घटना को अंजाम दिया गया था। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों का नक्सली संगठनों और अपराधी गिरोहों के साथ गहरा संबंध है। ये नक्सलियों और अपराधियों से पैसे लेकर घटनाओं को अंजाम देते थे। एसपी ने कहा है कि कोयलांचल में आतंक फैलाने की फिराक में जुटे अपराधियों और नक्सलियों के विरूद्ध अभियान निरंतर जारी रहेगा।

यह खबर भी पढ़े: वैक्सीन के जरिए दानवी और भोगी सभ्यताओं को मानवता का पाठ पढ़ा रहा भारत : इन्द्रेश कुमार

From around the web