कांग्रेस के राजनीतिक संस्कारों व चरित्र का शर्मनाक प्रदर्शन : धरमलाल कौशिक

 


रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने रव‍िवार को बयान जारी कर सत्ता के मद में चूर कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों के आचरण को राजनीतिक जीवन की शिष्टता और लोकतांत्रिक मर्यादा के लिए ख़तरा बताते हुए कहा कि यह कांग्रेस के राजनीतिक संस्कारों और चरित्र का शर्मनाक प्रदर्शन है। कौशिक ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस के लोगों पर सत्ता का अहंकार इस क़दर चढ़ गया है कि वहाँ अब मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री, विधायक, पंचायत पदाधिकारी, पार्षद तक संवेदनशून्य और भाषायी व्यवहार के साथ-साथ सारी राजनीतिक, लोकतांत्रिक व प्रशासनिक मर्यादाओं को लांघकर हिंसा  पर उतारू होते जा रहे हैं। धरमलाल कौशिक ने इस तरह की प्रवृत्ति पर तत्काल कड़ा अंकुश लगाने की ज़रूरत बताई है। 

भाजपा नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने गरियाबंद ज़िले के देवभोग में कांग्रेस से जुड़ीं जिला पंचायत अध्यक्ष द्वारा गोहरापदर में नए खुले जिला सहकारी बैंक के प्रबंधक से बदसलूकी करने, बैंक के अंदर घुसकर गाली-गलौज करने, वहाँ के कर्मचारियों से अपने समर्थकों के साथ मारपीट करने, बैंक में ताला लगाकर प्रबंधक को जबरदस्ती ट्रैक्टर में बिठाकर 15 किलोमीटर दूर थाने में अपनी सरकार का दबाव बनाकर एफआईआर दर्ज करवाने के मामले का ज़िक्र कर इस घटना की भर्त्सना की। इस घटनाक्रम के दौरान जिपं अध्यक्ष व उनके लोगों ने बैंक के कैश को सुरक्षित रखने का समय भी नहीं दिया। कौशिक ने प्रदेश सरकार और कांग्रेस के बड़बोले नेताओं से सवाल किया कि एक जनप्रतिनिधि को किसने यह अधिकार दिया है कि वह स्वयं  बैंक प्रबंधन पर कार्रवाई का दबाव बनाएं और बैंक को ताला लगाकर प्रबंधक को घसीटते हुए थाने में ले जाकर एफआईआर दर्ज करवाए?

यह खबर भी पढ़े: ममता बनर्जी एक आंदोलन का नाम है : चंद्रिमा भट्टाचार्य

From around the web