एजुकेशन मिनिस्ट्री का बड़ा ऐलान, अगले साल से मातृभाषा में होगी IIT, NIT में इंजीनियरिंग की पढ़ाई

 


नई दिल्ली। इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स के लिए एक बड़ी खबर सामने आ रही है। तजा खबरों के मुताबिक अगले एकेडमिक सेशन से इंजीनियरिंग की पढ़ाई मातृभाषा में होगी। यह फैसला यूनियन एजुकेशन मिनिस्टर रमेश पोखरियाल द्वारा हेड की गई एक हाई लेवल मीटिंग में हुआ। इसके लिए धीरे-धीरे संस्थानों का चयन किया जाएगा। 

इसके तहत अब इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) और नेशनल इंस्टीट्यूटस ऑफ टेक्नोलॉजी (NIT) कुछ इंजीनियरिंग कोर्सेस को उस एरिया की मातृभाषा में कंडक्ट कराएंगे। यह फैसला अगले एकेडमिक सेशन से लागू होगा और इस साल पहले की ही तरह कोर्स संचालित होंगे।  

इस मीटिंग में एजुकेशन मिनिस्टर ने नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को यह भी निर्देश दिए कि कोविड के कारण जो अस्थिरता पैदा हुई है, उससे डील करने के लिए कांपटीटीव एग्जाम्स जैसे जेईई और नीट 2021 के सिलेबस पर फिर से विचार किया जाए।

मीटिंग के दौरान जहां एक तरफ इंजीनियरिंग कोर्सेस को मातृभाषा में कंडक्ट कराने का फैसला आया है, वही एनटीए जेईई परीक्षा को लेकर एक बड़ा फैसला पहले ही ले चुकी है। इस फैसले के तहत अब जेईई यानी ज्वॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन हिंदी और इंग्लिश के अलावा 9 क्षेत्रीय भाषाओं में भी आयोजित होगा। ऐसा देश के विभिन्न इलाकों में रहने वाले कैंडिडेट्स की सुविधा के लिए किया जा रहा है। 

यह खबर भी पढ़े: कोरोना वैक्सीन को लेकर बड़ी खबर, भारत में तैयार होगी स्पुतनिक वी की 10 करोड़ खुराक

 

From around the web